गोरखपुर, जेएनएन। सीएम सिटी गोरखपुर में लोगों को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए कैंट स्टेशन के पास स्थित रेलवे क्रासिंग, हड़हवा फाटक और तरंग ओवरब्रिज के बगल में जेटपुर काली मंदिर के निकट लगने वाले जाम से लोगों को मुक्ति दिलाने की कवायद शुरू हो चुकी है। इन तीनों जाम वाले स्थलों पर अंडरपास या ओवरब्रिज बनाए जाएंगे। नगर विधायक की पहल पर रेलवे, लोक निर्माण और सेतु निगम के इंजीनियरों ने प्रस्ताव तैयार करने को लेकर मंथन शुरू कर दिया है।

विधायक ने किया निरीक्षण

बुधवार को नगर विधायक डा. राधा मोहन दास अग्रवाल के नेतृत्व में रेलवे, सेतु निगम और लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं और संबंधित अधिकारियों ने कैंट स्टेशन के पास स्थित समपार संख्या 157 ए का निरीक्षण किया। नगर विधायक ने आम लोगों की समस्याओं पर जोर देते हुए क्रासिंग पर अंडरपास या ओवरब्रिज बनाने का सुझाव दिया। उन्होंने जटेपुर कालीमंदिर के पास लोगों के लिए खोले गए रास्ता और हड़हवा फाटक समपार संख्या दो स्पेशल पर भी अंडरपास या ओवरब्रिज बनाने के लिए इंजीनियरों के साथ विचार विमर्श किया।

तकनीकी टीम तय करेगी अंडरपास बने या ओवरब्रिज

नगर विधायक का कहना है कि इन तीनों स्थलों पर हर समय जाम की स्थिति बनी रहती है। लोगों की परेशानी बढ़ गई है। इन स्थलों पर अंडरपास या ओवरब्रिज बन जाने से लोगों को राहत मिलेगी। इसके लिए उन्होंने संबंधित विभागों के उच्च अधिकारियों को पत्र भी लिखा है। साथ ही कहा है तीनों विभाग के इंजीनियर आपसी समन्वय से मौके का निरीक्षण कर सुविधानुसार अंडरपास या ओवरब्रिज बनाने का प्रस्ताव तैयार कर लें। प्रस्ताव के आधार पर आगे की कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। फिलहाल, नंदानगर अंडर पास बन जाने से हजारों लोगों की राह आसान हो गई है। कौवाबाग रेलवे क्रासिंग पर भी अंडरपास बन रहा है। अक्टूबर में बनकर तैयार हो जाएगा। इसके बाद रेलकर्मियों सहित आम जन का आवागमन आसान हो जाएगा। वैसे भी रेलवे ने वर्ष 2020-21 तक सभी समपार फाटकों को स्थाई रूप से बंद कर अंडरपास या ओवरब्रिज बनाने का लक्ष्य निर्धारित कर लिया है।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस