उमेश पाठक, गोरखपुर। गोरखपुर महानगर की चौहद्दी बढ़ने जा रही है। गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। जीडीए बोर्ड से इसका प्रस्ताव पास करा कर शासन को भेज दिया गया है। सीमा विस्तार जीडीए के इस प्रस्‍ताव को जल्द मंजूरी मिल सकती है। 319 नए गांव जुड़ने के साथ ही पीपीगंज, पिपराइच व मुंडेरा बाजार नगर पंचायत अब प्राधिकरण के हिस्सा हो जाएंगे। इसके बाद जीडीए का कुल क्षेत्र 64219 हेक्टेयर हो जाएगा।

319 नए गांव भी होंगे शामिल, शासन से जल्द नोटिफिकेशन जारी होने की उम्मीद

वर्तमान में जीडीए में नगर निगम गोरखपुर के साथ 170 गांव शामिल हैं। उसी के अनुसार 2021 की महायोजना भी बनी थी। शहर के विस्तार के साथ ही इस समय महायोजना 2031 पर काम चल रहा है। नगर निगम के विस्तारीकरण के लिए नोटिफिकेशन जारी हो गया है। नगर निगम के बाद जीडीए ने भी विस्तार की योजना बनाई। पहले 52 गांवों को जीडीए में शामिल करने के लिए प्रस्ताव गया था लेकिन किस कारण से अबतक लंबित था। नए प्रस्ताव में उन गांवों को भी शामिल किया गया है। नए प्रस्ताव में शहर से सटे ब्लाकों के गांव शामिल हैं। इसमें वाराणसी मार्ग, फरेंदा मार्ग, देवरिया मार्ग के 319 गांव शामिल किए गए हैं। गांवों के साथ-साथ तीन नगर पंचायत क्षेत्रों को भी विस्तारीकरण का हिस्सा बनाया जा रहा है।

होगा यह फायदा

नोटिफिकेशन जारी होने के बाद ये गांव और नगर पंचायतें जीडीए क्षेत्र में आ जाएंगी। प्राधिकरण के एक व्यापक क्षेत्र हो जाएगा और साथ ही शहर का भी विस्तार होगा। कस्बे के रूप में पहचान रखने वाले नगर पंचायत क्षेत्रों में भी तेजी से सुनियोजित विकास होंगे। वाणिज्यिक गतिविधियों के साथ अच्छी आवासीय कालोनियों का विकास होगा।

जीडीए के सीमा विस्तार के प्रस्ताव को अंतिम रूप देकर शासन को भेज दिया गया है। वहां से जल्द नोटिफिकेशन जारी होने की संभावना है। अब प्राधिकरण के कुल एरिया 65219 हेक्टेयर हो जाएगा। इसमें नगर निगम क्षेत्र के साथ 319 नए गांव, पीपीगंज, पिपराइच व मुंडेरा बाजार नगर पंचायत को शामिल करने का भी प्रस्ताव किया गया है। - अनुज सिंह, उपाध्यक्ष, जीडीए।

 

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस