गोरखपुर, जेएनएन। नेचुरोपैथी डे पर सोमवार को मिट्टी लेप का एशियन रिकार्ड गोरखपुर में टूट गया अभी तक यह रिकॉर्ड दिल्ली के नाम था। प्रथम नेचुरोपैथी डे पर पिछले वर्ष दिल्ली ने 302 लोगों को मिट्टी लेप लगाकर एशियन रिकार्ड बनाया था।

508 लोगों ने करवाया सर्वांग मिट्टी लेप

गोरखपुर के आरोग्य मंदिर में कुल 508 लोगों को सर्वांग मिट्टी लेप कर एक नया रिकॉर्ड बनाया गया। एशियन बुक आफ रिकॉर्ड के डायरेक्टर डॉ विश्वरूप राय चौधरी ने काउंटिंग कर इसकी घोषणा की। उन्होंने बताया कि आगामी 27 दिसंबर को प्रकाशित होने वाली 2020 की बुक में यह रिकॉर्ड प्रकाशित होगा।

सुबह से लग गई थी लोगों की भीड़

सुबह से ही एशियन रिकार्ड तोड़ने के लिए आरोग्य मंदिर में स्कूली बच्चे, महिलाएं, पुरुष आरोग्य मंदिर में पहुचने लगे थे। पुरुष और महिलाओं के लिए मिट्टी लेप लगाने की अलग-अलग व्यवस्था की गई थी। कुल 160 महिलाओं ने मिट्टी लेप कराया। शेष पुरुष थे। पौने दो साल का बच्चा कनिष्क हरि ने भी यह रिकार्ड तोड़ने में अपनी सहभागिता निभाई।

बच्‍चों ने भी लिया कार्यक्रम में हिस्‍सा

डॉक्टर विश्वरूप राय चौधरी ने कहा इस बच्चे द्वारा इस कार्यक्रम में भाग लेना अपने आप में एक बड़ा रिकॉर्ड है। यह रिकॉर्ड तोड़ने की तैयारी पिछले 2 अक्टूबर से ही चल रही थी। 10 नवंबर तक हर रविवार आरोग्य मंदिर में लोगों को निश्शुल्क मिट्टी लेप किया जाता था। 10 नवंबर से 18 नवंबर तक यह प्रक्रिया रोज कर दी गई और 18 नवंबर को दिल्ली का यह रिकॉर्ड गोरखपुर में तोड़ दिया। आरोग्य मंदिर के निदेशक डॉ विमल मोदी ने पूरे महानगर के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति के सहयोग से ही यह रिकॉर्ड गोरखपुर के नाम हो पाया है।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस