गोरखपुर, जागरण संवाददाता। मंडलायुक्त रवि कुमार एन.जी. ने बुधवार को आयोजित संभागीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए) की बैठक में शहर को प्रदूषण और जाम से मुक्त रखने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि उदासीनता नहीं चलेगी। जाम से निजात दिलाने के लिए बिना परमिट के चल रहे आटो पर पूरी तरह से रोक लगाए।

जाम वाले चिन्हित स्थलों पर पार्किंग स्थल स्थापित की जाएं। साथ ही पानी व प्रसाधन केंद्र की व्यवस्था भी सुनिश्चित करें। प्रदूषण पर अंकुश लगाने के लिए परिवहन विभाग किसी भी दशा में उम्र पूरी कर चुके आटो व टैक्सी को परमिट न जारी करे। इनकी जगह ई रिक्शा के प्रति लोगों को प्रोत्साहित करें। साथ ही आटो की तरह ई रिक्शा के लिए भी रूट निर्धारित करें।

उम्र पूरी कर चुके आटो व टैक्सी के जारी नहीं होंगे नए परमिट

महानगर में चल रहे एलपीजी और पेट्रोल आटो को सीएनजी में बदलने की चर्चा के दौरान मंडलायुक्त ने विशेषज्ञ कंपनी से रेट्रो फिटमेंट पर बल दिया। उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग पहले एलपीजी और पेट्रोल आटो को सीएनजी में बदलने के लिए विशेषज्ञ कंपनियों को आमंत्रित करे। इसके बाद अन्य शहरों में लागू व्यवस्था का परीक्षण कर रेट्रो फिटमेंट व परमिट जारी करने की प्रक्रिया शुरू करे। आरटीओ ने बताया कि संभाग में नौ स्थानों पर सीएनजी स्टेशन स्थापित हैं।

मंडलायुक्त ने ओवरलोड पर अंकुश लगाने के लिए लगातार अभियान चलाकर कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया। गीडा में स्थापित होने वाले आरटीओ के नए दफ्तर और ट्रांसपोर्टरों की सुरक्षा के लिए पुलिस चौकी बनाने का निर्देश दिया। मंडलायुक्त सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी विजय किरण आनंद, नगर आयुक्त अविनाश सिंह, उप परिवहन आयुक्त अशोक कुमार सिंह और एसपी ट्रैफिक आरएस गौतम सहित समस्त एआरटीओ व ट्रक, बस व आटो एसोसिएशन के पदाधिकारी मौजूद थे। संचालन संभागीय परिवहन प्राधिकरण की सचिव अनीता सिंह ने की।

इन मुद्दों पर हुई विस्तार से चर्चा

पेट्रोल-एलपीजी आटो रिक्शा के संचालन की आयु सीमा सात से दस वर्ष किया जाए।

सीएनजी आटो को अधिकतम 16 किमी के क्षेत्र में संचालित करने की अनुमति दी जाए।

महाराजगंज में अधिक पार्किंग शुल्क वसूले जाने की शिकायत पर आवश्यक निर्देश।

इन मुद्दों पर बनी आम सहमति

ग्रामीण क्षेत्रों में बसों को नियमित संचालित करने के लिए संभाग के 23 मार्गों पर समय-सारिणी जारी।

कुशीनगर के तमकुही केन्द्र से सीएनजी आटो के परमिट जारी करेगा परिवहन विभाग।

शुरू की जाएंगी गोरखपुर एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन से शहर के लिए प्रीपेड टैक्सी सेवा।

जीपीएसयुक्त प्रीपेड टैक्सी के लिए आमंत्रित किए जाएंगे आवेदन पत्र।

गोरखपुर में सिटी बस के स्थाई ठहराव स्थल बनाने के लिए बनेगी संयुक्त समिति।

महानगर के नो इंट्री क्षेत्रों में भारी वाहनों के प्रवेश पर पूरी तरह लगेगी रोक।

ग्रामीण क्षेत्र के इन रूटों पर चलेंगी बसें

सिसवां बाजार- सिंदुरिया- झंझनपुर- महाराजगंज, फरेन्दा- लोटन- बनगढ़िया- सोनाबन्दी, देवरिया- कंचनपुर-बघौचघाट- फाजिलनगर- समउर,शिकारपुर- घुघुली- कोटवा- रामकोला- कसयां, झुलनीपुर- उत्तर प्रदेश बार्डर- बहुआर- कप्तानगंज वाया निचलौल, चिउटहां, सिसवां, घुघुली, भुवना, मेदिनीपुर, पकड़ियार, कसयां-रामकोला- रामपुर खुर्द- कोटवा- घुघुली मार्ग पर समय सारिणी से चलेंगी बसें।

Edited By: Pradeep Srivastava