गोरखपुर , जेएनएन। ठंड बढ़ने के साथ-साथ पुलिस की सक्रियता घटती दिख रही है। इसका परिणाम है कि चोर बेखौफ होकर पूरी इत्‍नीनान के साथ चोरियां कर रहे हैं। वह सड़क किनारे प्रतिष्‍ठानों को निशाना बना रहे हैं। बावजूद इसके पुलिस अभी चोरी की घटनाओं को गंभीरता से नहीं ले रही है।

नवंबर माह में पारा 9.6 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। तापमान घटने का प्रभाव पुलिस पर भी देखा जा रहा है। माह भर में जिले में 20 से अधिक चोरियां हो चुकी हैं। आमतौर पर पुलिस सड़कों पर रात्रि गश्‍त करती है, बढ़ी हुई चोरियों के साथ संदेश यही जा रहा है कि जिले में रात्रिगश्‍त पर विशेष जोर नहीं दिया जा रहा है।

दुकान से रातभर शराब ढोते रहे चोर

शुक्रवार रात कैंपियरगंज थाने से कुछ ही दूरी पर चोरों ने एक शराब की दुकान को खंगाला। चोर रात भर सफारी वाहन दुकान से शराब, इनवर्टर, बैट्री, सीसी कैमरा डीबीआर ढोते रहे। दुकान से बैट्री, इनवर्टर व शराब की 152 पेटियां ढोने में चोरों कई घंटे लगे होंगे। दुकान सड़क पर ही मौजूद है। स्‍पष्‍ट है कि पुलिस यदि गश्‍त करती तो किसी ना किसी पुलिस कर्मी की चोरों पर निगाह अवश्‍य गई होती।

आराम से 35 पेटी तेल ढो ले गए चोर

रविवार को चोर चौरीचौरा थाना क्षेत्र के भोंपा बाजार में एक ट्रक से 35 पेटी सरसो का तेल चोरी कर ले गए। वाहन चालक भोंपा बाजार में करीब तीन बजे ट्रक लेकर पहुंचा था। वह लोगों से व्‍यापारी वीरेंद्र गुप्‍ता का पता पूछ रहा था। कस्‍बे के लोगों के मुताबिक सुबह 6 बजे से कस्‍बावासी टहलने लगते हैं। इससे तो यही प्रतीत होता है कि ठंड बढ़ने के साथ चोर सक्रिय हुए हैं। वह हर गतिविधि पर नजर रख रहे हैं। ट्रक से 35 पेटी तेल जाने में भी चोरों को कम समय नहीं लगा होगा।

ट्रक से 35 बोरी चीनी ढो ले गए थे चोर

चौरीचौरा थाना क्षेत्र के राघोपुर में शनिवार रात चोर एक ट्रक से तिरपाल काटकर 35 बोरी चीनी ढो ले गए। चीनी की 35 बोरियों ले जाने में भी चोरों को एक दो घंटे का वक्‍त लगा होगा। चोर यदि बाहर के हैं तो वह अपने साथ वाहन लेकर भी घूम रहे हैं। फिर भी पुलिस उन पर ध्‍यान नहीं दे पा रही है।

बीट प्रणाली पर भी उठ रहा सवाल

अपराध पर अंकुश लगाने के लिए जिले में बीट पुलिस पुलिसिंग भी लागू है। लेकिन चोरों पर ना ही संबंधित बीट का सिपाही ध्‍यान दे रहा है और न गश्‍त ड्यूटी पर पुलिस कर्मी ही मौजूद है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021