गोरखपुर, जेएनएन। गगहा इलाके के विष्णु ऊर्फ सूरज सिंह की हत्या, उधार में दी गई रकम वापस मांगने पर दोस्त ने ही की थी। इस मामले में मुख्य आरोपित धीरज शाही को गगहा पुलिस ने गुरुवार को तड़के गिरफ्तार कर लिया। उस पर 10 हजार रुपये का इनाम भी घोषित था। वारदात में शामिल दो अन्य अभियुक्तों की भी तलाश की जा रही है।

गला रेतकर की गई थी हत्या

गगहा क्षेत्र के बड़हरिया निवासी सूरज का दो फरवरी को कौड़ीराम के पास बंधे के किनारे शव मिला था। धारदार हथियार से गला रेतकर उनकी हत्या की गई थी। सूरज की मां ने शव की शिनाख्त की थी। उन्होंने बताया था कि एक फरवरी की शाम को दोस्तों के साथ निकले थे। इसके बाद घर नहीं लौटे। रात में आठ बजे उन्होंने पत्नी के पास फोन किया था। बातचीत के दौरान देर से घर लौटने की बात कही थी। बाद में परिजनों के फोन करने पर उनका मोबाइल नंबर बंद मिलता रहा। दूसरे दिन, कौड़ीराम बंधे पर उनका शव मिला।

मृतक की मां ने तीन पर दर्ज कराया था मुकदमा

सूरज की मां ने इस मामले में गगहा क्षेत्र के ही मठिया निवासी धीरज शाही और डबलू तथा एक अन्य अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया था। तहरीर में उन्होंने लेनदेन के विवाद में बेटे की हत्या होने की आशंका जताई थी। धीरज से पूछताछ में इसकी पुष्टि हुई है। क्षेत्राधिकारी बांसगांव नितेश सिंह ने बताया कि डेढ़ माह पहले धीरज ने सूरज से 15 हजार रुपये उधर लिए थे। उस समय कुछ दिन में ही उसने रकम वापस कर देने की बात कही थी। एक माह से अधिक वक्त बीत जाने पर सूरज ने उस पर रुपये वापस करने का दबाव बनाना शुरू किया। इसी बात से नाराज होकर धीरज ने उनकी हत्या की योजना बना डाली।

शराब पिलाने के बाद कर दी हत्‍या

एक फरवरी को साजिश के तहत धीरज, उन्हें कौड़ीराम ले गया और अपने ही गांव के डबलू तथा एक अन्य दोस्त के साथ मिलकर उनको शराब पिलाया। इसके बाद कौड़ीराम बंधे पर ले जाकर उनकी हत्या कर दी?

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस