कुशीनगर : पडरौना कोतवाली क्षेत्र के गांव जंगल चौरिया के टोला देवकी नगर में शुक्रवार की रात 11 बजे एक वहशी ने चाकू से गला रेत कर बेटे की हत्या कर दी। बचाने आई पत्नी का भी गला रेत दिया। घटना को अंजाम देने के बाद घर से फरार हो गया। घर में मची चीख-पुकार सुनकर आए आसपास के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस महिला का जिला अस्पताल भेजा था मृतक का शव कब्जे में लिया। बताया जा रहा है कि वारदात के समय आरोपित नशे में था। एएसपी रितेश कुमार सिंह ने रात में ही घटनास्थल का निरीक्षण कर जरूरी निर्देश दिए।

गांव का पवन सिंह पेंटिग का काम करता है। वह नशे का आदी है। उसकी इस आदत को लेकर अक्सर घर में विवाद होता है। स्वजन के अनुसार राज में जब वह नशे में घर आया तो पत्नी प्रीती से विवाद हो गया। उसने 13 वर्षीय बड़े बेटे अंश को बिस्तर लगाने को कहा। अंश विस्तर कर रहा था तभी उसने पीछे से चाकू से उसका गला रेत दिया। चीख सुनकर बगल के कमरे से प्रीती दौड़ कर आई तथा बेटे को बचाने पहुंचीं तो उसने उनका भी गला रेत कर हत्या करने की कोशिश की। घर में मची चीख-पुकार सुनकर आसपास के लोग आ गए। पड़ोसियों व ग्रामीणों को देख आरोपित खिड़की के रास्ते कूद कर फरार हो गया। गांव के लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। कोतवाली प्रभारी निर्भय कुमार सिंह तत्काल मौके पर पहुंचे और खून से लथफथ मां-बेटे को जिला अस्पताल भिजवाये। परीक्षण के पश्चात डाक्टरों ने अंश को मृत घोषित कर दिया। प्रीती का इलाज चल रहा है। अंश की मौत की खबर मिलते ही घर में कोहराम मच गया। दो भाइयों में अंश बड़ा था। घटना के बाद से छोटा भाई आर्यन बदहवास है। कोतवाल ने कहा कि पवन के छोटे भाई रतन सिंह की तहरीर पर आरोपित पवन सिंह के विरुद्ध हत्या, हत्या के प्रयास की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। आरोपित की तलाश में दबिश दी जा रही है।

Edited By: Jagran