बस्ती: फोरलेन के साथ ही सर्विस लेन का भी बुरा हाल है। बस्ती जिले में कांटे से लेकर घघौआ तक एक दर्जन ओवरब्रिज हैं। फोरलेन से कनेक्टिविटी के लिए इन ओवरब्रिजों के पास सर्विस लेन बनाए गए हैं। लंबे समय से यह खराब हैं। इन पर गड्ढों की भरमार है। सर्विस लेन की मरम्मत के लिए लंबे समय से मांग की जा रही है लेकिन टोल कंपनी लगातार इसकी अनदेखी कर रही है।

हड़िया ओवर ब्रिज का सर्विस लेन एक साल से खराब है। इस पर बड़े-बड़े गड्ढे बन गए हैं। इसमें छोटी पहिया वाली गाड़ियां फंस जा रही है। दोपहिया वाहन सवार आए दिन गिरकर चोटिल हो रहे हैं। बड़े वन ओवरब्रिज की सर्विस लेन की गिट्टियां उखड़ गई हैं। कमोवेश यही स्थिति फुटहिया,गोटवा,बसहवा और महराजगंज ओवरब्रिज के पास बने सर्विस लेन की भी है। हर्रैया में बने सर्विस लेन पर हल्की बारिश में भी पानी लग जाता है। जलनिकासी नाली सकरी है और मलबे से पटी हुई है। इस तरह हाईवे के सर्विस लेन सुविधाजनक कम कष्टप्रद ज्यादा हो गए हैं। एनएचएआइ की छवि पर बट्टा लगा रही टोल कंपनी

टोल वसूल करने वाली कंपनी सर्विस लेन की मरम्मत कराना भूल गई है जबकि वाहनों से टोल वसूली में वह आगे हैं। सर्विस लेन की बिगड़ी सूरत राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की छवि पर बट्टा लगा रही है। फोरलेन की खराबी को लेकर पिछले महीने एनएचएआइ के पीडी सीएम द्विवेदी ने टोल प्रबंधन से कड़ी नाराजगी जताई थी। इसके बाद भी फोरलेन पर बने गड्ढे और टूटी सड़क की मरम्मत नहीं कराई गई है। अतिक्रमण की जद में सर्विस लेन

मूड़घाट ओवरब्रिज के किनारे बने सर्विस लेन पर एक कबाड़ी का लंबे समय से कब्जा है। इतना ही नहीं यहां सर्विस लेन पर ही वाहनों की मरम्मत का भी कार्य होता है। दूसरी तरफ लेन पर बालू लदी गाड़ियां बिक्री के लिए खड़ी रहती है। लोगों को आने जाने में काफी दिक्कतें हो रही हैं लेकिन एनएचएआइ के अधिकारी आंख मूद तमाशबीन की भूमिका में हैं। सीएम द्विवेदी,पीडी एनएचएआइ ने बताया कि फोरलेन की सर्विस लेन की मरम्मत कराना टोल कंपनी की जिम्मेदारी है। गोरखपुर-अयोध्या टोल्स प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंधन को निर्देश दिए गए हैं कि वो जल्दी सर्विस लेन की मरम्मत कराएं।

Edited By: Jagran