गोरखपुर, जेएनएन। बैंक में नौकरी दिलाने के नाम पर जालसाजों द्वारा एक लाख 15 हजार रुपये एक बेरोजगार से डकार लेने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में पीड़ित ने एसपी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई है। हालांकि देर शाम तक इस मामले में मुकदमे की कार्रवाई नहीं हो सकी थी। यह वाकया देवरिया जिले के सदर कोतवाली के ग्राम चकियवा गांव का है। गांव के कुलदीप आर्या बेरोजगार युवक है। उसने बैंक में नौकरी के लिए आन-लाइन फार्म भरा हुआ था। उसे साक्षात्कार के लिए गोरखपुर बुलाया गया। गोरखपुर में साक्षात्कार के बाद जालसाजों ने उससे एक लाख पंद्रह हजार रुपये की मांग की। पीड़ित को नौकरी के लिए पैसे का इंतजाम करना था। कुछ रकम उसके पास थी तो कुछ उसने अपने परिचितों और रिश्तेदारों से लिया। जब पूरी रकम का इंतजाम हो गया तो जालसाजों ने बैंक का खाता नंबर दिया। पीड़ित ने उनके खाते में एक लाख पंद्रह हजार रुपये डाल दिया।

खाते में रुपये आने के बाद पीड़ित ने जालसाजों से संपर्क किया तो उन्होंने चेक कर बताया कि खाते में पैसा आ गया है। उसके बाद से उनकी मोबाइल बंद हो गया। इससे पीड़ित काफी परेशान है। पीड़ित का कहना है कि नौकरी भी नहीं मिली और पैसा भी चला गया। बड़ी मुश्किल से पैसे का इंतजाम किया था। अब वह रकम कहां से चुकता करेंगे, कुछ समझ में नहीं आ रहा है।

उसने इस संबंध में कोतवाली पुलिस को तहरीर दी, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद शुक्रवार को एसपी से मुलाकात की। एसपी एन. कोलांची ने मामले की जांच कराकर आवश्यक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस