गोरखपुर, जेएनएन। संतकबीरनगर जिले के फायर बिग्रेड में तैनात सिपाही के चोरी हुए मोबाइल के जरिए सर्राफ से रंगदारी मांगी गई है। छह नवंबर को को सिपाही का मोबाइल गायब हो गया था, जिसकी गुमशुदगी उसने संतकबीरनगर कोतवाली में दर्ज कराई है। लेकिन सिमकार्ड बंद नहीं कराया था। रंगदारी मांगने वाले ने इस नंबर से केवल सर्राफ को ही फोन किया है।

सिपाही के घर पहुंची पुलिस

सर्राफ से रंगदारी मांगने की घटना सामने आने के बाद हरकत में आई पुलिस व क्राइम ब्रांच ने छानबीन तेज कर दी है। जिस नंबर से सर्राफ को फोन आया था उसके धारक की तलाश में रविवार की रात शाहपुर के नंदानगर में रहने वाले फायर ब्रिगेड के सिपाही के घर टीम पहुंची। छानबीन करने पर सिपाही ने बताया कि उसका मोबाइल छह नवंबर को गायब हो गया था। जिसकी गुमशुदगी संतकबीनगर कोतवाली में दर्ज है, लेकिन मोबाइल नंबर बंद नहीं करा पाया था। काल डिटेल की पड़ताल करने पर पता चला कि छह के बाद 19 नवंबर को दोपहर बाद सर्राफ को फोन किया गया है। पुलिस का मानना है कि सिपाही का चोरी हुआ मोबाइल सर्राफ को जानने वाले किसी व्‍यक्ति के पास है। परेशान करने के लिए उसने फोन कर दिया। 

यह है मामला

गगहा, कौड़ीराम के बलुआ बुजुर्ग निवासी श्रीराम वर्मा की खोराबार के डोलबजवा उर्फ सोनवे में सोनी ज्‍वेलर्स के नाम से दुकान है। 19 नवंबर को दोपहर बाद 3.20 बजे अनजान नंबर से उनके मोबाइल पर फोन आया। काल रिसीव करने पर दूसरी तरफ से बात करने वाले ने बताया कि चौरीचौरा से बोल रहा हूं। तीन लाख रुपये की जरूरत है। 24 नवंबर तक अगर रुपये नहीं मिले तो जान से हाथ धो बैठोगे। सर्राफ के जानकारी देने पर हरकत में आई खोराबार पुलिस मोबाइल नंबर धारक अज्ञात व्‍य क्ति के खिलाफ धमकी देने का केस दर्ज कर जांच कर रही है।

हो चुकी है चोरी व लूट

श्रीराम ने बताया कि 2014 में दुकान से घर जाते समय चंदा घाट के उनके साथ लूट हुई थी। मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने वारदात में शामिल बदमाशों को गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश किया था। दिसंबर 2019 में दुकान का शटर तोड़कर चोरी हुई थी। जिसका पर्दाफाश अभी तक नहीं हुआ। धमकी भरा फोन आने के बाद पूरा परिवार डरा हुआ है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप