गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर जिले में बदमाशों ने पुलिस के दावों की हवा निकाल दी है। वह असलहे के दम पर एक के बाद एक लूट की घटना को अंजाम देकर यह बता रहे हैं कि गश्त सहित यहां सुरक्षा के सभी इंतजाम फेल हैं। इसका प्रमाण है कि खजनी के छताई पुल के पास गोली मारकर दो लाख रुपये लूट लिए। असलहे के दम पर लूट की यह चौथी घटना है। फिर भी पुलिस असलहाधारी लुटेरों को दबोच पाने में विफल है।

चार टीमें बनाकर पुलिस कर रही बदमाशों की तलाश

पुलिस बदमाशों पर शिकंजा कसने के लिए आपरेशन तमंचा अभियान चला रही है। तीन माह में इस अभियान के तहत जिले में बड़े पैमाने असलहे बरामद हुए हैं और तमाम बदमाशों को गिरफ्तार करके पुलिस ने जेल भेजा है। बावजूद इसके बदमाश बेखौफ असलहे के साथ लूट की घटना को अंजाम दे रहे हैं। लूट की पुरानी घटनाओं के पर्दाफाश न होने से भी बदमाशों के हौसले को ताकत मिल रही है। जानकारों का मानना है कि पुलिस घटना के समय दावा तो करती है कि कुछ दिन में वह बदमाशों को पकड़ लेगी, लेकिन जब वह पकड़े नहीं जाते तो उन्हें यह समझने में देरी नहीं लगती कि पुलिस का तंत्र कमजोर है। छताई पुल पर व्यापारी सदरूद्दीन को गोली मारकर लूटपाट करना इसका प्रमाण है। बता दें छताई पुल पर असलहे के बल पर लूट की यह कोई पहली वारदात नहीं है। दस माह पूर्व भी असलहे के दम पर बदमाशों ने दंपती को लूटा था।

घटना के बाद दिन भर सीसीटीवी फुटेज खंगालती रही पुलिस

मंगलवार को व्यापारी सदरूद्दीन जिन रास्तों से होकर गुजरें हैं, वहां के सीसीटीवी फुटेज पुलिस खंगाल रही है। पुलिस के हाथ कुछ क्लू भी लगे हैं, लेकिन पुलिस अभी उसे साझा नहीं कर रही है। वह दावा कर रही है कि जल्द पदमाश पकड़े जाएंगे।

ताबड़तोड़ हुईं लूट की घटनाएं

1 जनवरी 2021- चिलुआताल के मानीराम में बदमाश को गोली मारकर लूट का प्रयास।

29 जुलाई 2021- कैंपियरगंज के धानी मार्ग स्थित टोल प्लाजा के पास असलहे के बल पर सर्राफा कारोबारी से आठ लाख के जेवरात की लूट।

13 अगस्त 2021- चौरीचौरा के जंगल महादेवा स्थित फ्यूजन माइक्रोसाफ्ट कंपनी के कार्यालय में बदमाशों ने असलहा दिखाकर 4.10 लाख रुपये की लूट।

26 अक्टूबर 2021- खजनी के छताई पुल के पास कपड़ा व्यवसायी सदरूद्दीन को गोली मारकर बदमाशों ने करीब दो लाख रुपये लूटा।

घटनास्थल पर पुलिस को कुछ सुराग मिले हैं। जिसे लेकर टीमें बनाकर पुलिस लुटेरों की तलाश कर रही है, जल्द का घटना पर्दाफाश किया जाएगा। - डा. विपिन कुमार ताडा, एसएसपी।

Edited By: Pradeep Srivastava