गोरखपुर, जागरण संवाददाता : गोलघर काली मंदिर के पास नाले में कूड़ा फेंकते एक व्यक्ति को नगर आयुक्त ने देखा तो गाड़ी रोककर उसे पकड़ने दौड़ पड़े। नगर आयुक्त के पहले मुख्य अभियंता सुरेश चंद ने कूड़ा डालने वाले को पकड़ा और जमकर फटकार लगाई। कूड़ा फेंकने के जुर्म में एक हजार रुपये जुर्माना जमा करने को कहा तो उसने खुद को नगर निगम के ठीकेदार का आदमी बताया। इसके बाद नगर आयुक्त अविनाश सिंह के निर्देश पर दुकान को सील कर दिया गया। एक हजार रुपये जमा करने के बाद सील खोली गई।

चरगांवा में निरीक्षण करने जा रहे थे नगर आयुक्‍त अविनाश सिंह

नगर आयुक्त अविनाश सिंह, मुख्य अभियंता के साथ वार्ड नंबर छह चरगांवा का निरीक्षण करने जा रहे थे। गोलघर काली मंदिर से उनकी गाड़ी जैसे आगे बढ़ी तो नगर आयुक्त की नजर एक व्यक्ति पर पड़ी। वह दुकान के सामने नाले में कूड़ा डाल रहा था। नगर आयुक्त ने गाड़ी रुकवाई और उसे पकड़ने के लिए दौड़ पड़े।

दुकान संचालक नगर निगम में करता है ठीकेदारी

नाले में कूड़ा गिराने वाले व्यक्ति ने बताया कि वह दुकान पर काम करता है। आटो रिपेयरिंग की दुकान के संचालक नगर निगम में ठीकेदारी करते हैं। मुख्य अभियंता ने जुर्माना जमा करने को कहा तो उसने ठीकेदार के आने पर ही जुर्माना जमा करने की बात कही। इसके बाद दुकान को सील कर दिया गया।

जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायतों का करें निस्तारण

जनसुनवाई पोर्टल पर नगर निगम से जुड़ी 223 शिकायतों का निस्तारण होना बाकी है। नगर आयुक्त के निर्देश पर उप नगर आयुक्त ने सभी अफसरों को पत्र लिखकर शिकायतों का तीन दिन में निस्तारण कराने को कहा है। निर्माण विभाग की 105, स्वास्थ्य विभाग की 43, रेंट विभाग की आठ, जलकल विभाग की 25, प्रभारी मवेशीखाना की दो, पथ प्रकाश विभाग की 34 और कर विभाग की तीन शिकायतों का अभी निस्तारण होना बाकी है।

Edited By: Rahul Srivastava