गोरखपुर, जेएनएन। पति के साथ ही प्रेमी को भी अपने कमरे में सुलाने की जिद भारी पड़ी। पत्‍नी के व्‍यवहार से आहत पति ने अपनी जान दे दी। पुलिस ने अब पत्‍नी और प्रेमी पर मुकदमा दर्ज किया है। मामला गोरखपुर जिले का है।

बेटे ने दी तहरीर

गोरखपुर जिले के चिलुआताल क्षेत्र के जंगल बहादुर अली, शेखपुरवा मोहल्ला निवासी परमानंद मिश्र की खुदकशी के मामले में उनके बड़े बेटे ने मां व उसके प्रेमी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया है। तहरीर में लिखा है कि मां के प्रेमी के अक्सर घर आने से पिता व्यथित रहते थे। इसीलिए उन्होंने खुदकशी की है। मामले में आत्महत्या के लिए उत्प्रेरित करने के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ है।

प्रेमी को भी अपने कमरे में सुलाना चाह रही थी

परमानंद मिश्र (40) ने मंगलवार की रात घर में फांसी लगाकर खुदकशी कर ली थी। उनके बड़े पुत्र प्रज्वल के मुताबिक रामूडीहा, चौरीचौरा निवासी इंद्रजीत ओझा से उसकी मां आरती मिश्रा के अनैतिक संबंध थे। टेंपो चालक इंद्रजीत ओझा, मां से मिलने के लिए अक्सर उसके घर आता था। बीते मंगलवार रात भी वह मां से मिलने उसके घर आया था। खाना खाने के बाद सभी लोग सोने की तैयारी कर रहे थे। उसकी मां, पिता के साथ प्रेमी को भी अपने कमरे में सुलाने की जिद करने लगी।

पत्‍नी भी प्रेमी के साथ चली गई

कमरे में सुलाने की बात को लेकर मां व पिता के बीच विवाद होने लगा। यह देख इंद्रजीत ओझा नाराज होकर जाने लगा तो आरती देवी भी उसके साथ टेंपो में सवार हो गईं। मां की वजह से प्रज्वल भी टेंपो में बैठ गया। वे शाहपुर क्षेत्र में खजांची चौराहे के पास पहुंचे थे कि छोटे भाई ने फोन कर बताया कि पिता ने फांसी लगा ली है। प्रज्वल ने थाने में तहरीर दे दी थी। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज किया था।

अनैतिक संबंध के विरोध पर पत्नी व भाई ने मिलकर की हत्या

उधर, बेलीपार में हुई हत्‍या का पर्दाफाश पुलिस ने कर दिया है। पुलिस ने बताया कि देवहिया टोला निवासी पन्नेलाल की हत्या में उसकी पत्नी ने भी देवर का साथ दिया था। अनैतिक संबंध का विरोध करने पर दोनों ने मिलकर उन्हें मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने पन्नेलाल की पत्नी दुर्गावती देवी को गिरफ्तार कर लिया है। हत्यारोपित भाई को एक दिन पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया था। दोनों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।

नौसढ़ के देवहिया टोला निवासी पन्नेलाल की सोमवार शाम को घर में ही हत्या कर दी गई थी। मौके पर पहुंची पुलिस को परिजनों ने बताया कि पन्नेलाल शाम को चार बजे के आसपास कमरे में लेटकर पत्नी व बेटी से बात कर रहे थे। इसी दौरान उनका छोटा भाई रामअशीष उर्फ मकानू कुल्हाड़ी लेकर घर में घुसा और बड़े भाई के सिर पर ताबड़तोड़ प्रहार कर मौत के घाट उतार दिया। पन्नेलाल की पत्नी दुर्गावती देवी ने इस मामले में देवर रामअशीष के विरुद्ध नामजद मुकदमा दर्ज कराया था।

भाभी से थे अनैतिक संबंध

क्षेत्राधिकारी बांसगांव नितेश सिंह ने बताया कि रामअशीष को बाघागाड़ा के पास से गिरफ्तार किया गया था। पूछताछ में उसने बताया कि भाभी के साथ उसके अनैतिक संबंध थे। सोमवार को दिन में बड़े भाई ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था। उसी समय उन्होंने भाभी की पिटाई कर दी थी। शाम को पन्नेलाल कमरे में सो रहे थे। पिटाई से आहत भाभी ने देवर के साथ मिलकर पति की हत्या करने का फैसला कर लिया। कुल्हाड़ी लेकर दोनों कमरे में गए और सिर पर ताबड़तोड़ प्रहार कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस