विश्‍वदीपक त्रिपाठी, महराजगंज। पर्यटन व्यवसाय पर आधारित नेपाल का आर्थिक ढांचा कोरोना के चलते चरमरा गया है। बीते मार्च माह से ही वहां के होटल सूने पड़े हैं। पेइंग गेस्ट रखकर जीविका चलाने वाले नेपाल के बहुसंख्यक लोगों के आय का स्रोत भी बंद है।

इसका असर नेपाल की डीजीपी पर भी पड़ रहा है। एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) की रिपोर्ट के मुताबिक, यही स्थिति रही तो देश की जीडीपी 7.10 फीसद से गिर कर 6.3 फीसद आ सकती है। महराजगंज की सीमा से सटे नेपाल के बेलहियां, भैरहवां, लुंबिनी, बुटवल, नवलपरासी आदि नगरों में इसका साफ असर देखा जा रहा है। नेपाल में बेरोजगारी बढ़ने से नौकरी के नाम पर मानव तस्करी तेज हो गई है। सीमा सील होने के बाद तस्कर महिलाओं , युवतियों व बच्चों को पगडंडी के रास्ते भारत भेज रहे हैं। दिल्ली से काठमांडू तक इनका नेटवर्क फैला है। माह भर के अंदर जिले में 10 से अधिक मामले सामने आने पर सुरक्षा एजेंसियां सर्तक हो गईं हैं।

आर्केस्ट्रा संचालकों के यहां बेची जा रहीं नेपाली युवतियां

नेपाल की युवतियों को भारत के विभिन्न शहरों में नौकरी दिलाने के नाम पर लाया जा रहा है। पगडंडी के रास्ते उन्हें भारत में प्रवेश करा कर दिल्ली, मुंबई आदि शहरों में पहुंचाया जा रहा है। जो युवतियां महानगरों तक नहीं पहुंच पा रहीं हैं, उन्हें एजेंट सीमावर्ती क्षेत्र के आर्केस्‍ट्रा संचालकों को बेच रहें हैं। इसका खुलासा 31 अगस्त को जिले के बलूवही धूस स्थित एक आर्केस्ट्रा संचालक के घर से मुक्त कराई गई दो नेपाली युवतियों ने किया। एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग के प्रभारी सगीर अहमद ने बताया कि किशोरी को नेपाल से लाकर भारत में बेचा गया था। उसे मुक्‍त करा कर नेपाल पहुंचा दिया गया है।

वीडियो वायरल कर नेपाली युवती ने बताई पीड़ा

जिले के कोल्हुई कस्बे में भी एक नेपाली युवती काे एजेंट ने आर्केस्ट्रा संचालक के यहां बेचा था। हफ्ते भर पूर्व जब उसे देह व्यापार के धंधे में धकेला जाने लगा तो युवती ने वीडियो वायरल कर अपनी पीड़ा बताई। मामला उजागर होने के बाद पुलिस ने उसे मुक्त करा कर परिजनों के पास नेपाल भेजा।

पर्यटकों की संख्या घटने से गहराया संकट

काेरोना के इस दौर में नेपाल में पर्यटकों के आने की संख्या थम गई है। इस वर्ष आठ माह में महज 177675 विदेशी पर्यटकों ने नेपाल की यात्रा की है। यह आंकड़ा पिछले वर्षों के मुकाबले काफी कम है। नेपाल पर्यटन बोर्ड के मुताबिक, वर्ष 2019 में 11.7 लाख विदेशी पर्यटक नेपाल आए। 2018 में सर्वाधिक 15.2 लाख पर्यटक घूमने आए थे। इनमें से सर्वाधिक 2,09,611 भारतीय थे। दूसरे स्थान पर चीन रहा। चीन के पर्यटकों की संख्या 1,69,543 थी।

महराजगंज के अपर पुलिस अधीक्षक निवेश कटियार ने कहा कि मानव तस्करी को देखते हुए सीमा पर सतर्कता बरती जा रही है। पगडंडी रास्तों पर नजर रखने के निर्देश पुलिसकर्मियों को दिए गए हैं। सभी सुरक्षा एजेंसियों से समन्‍वय बना कर मानव तस्करी पर अंकुश लगाया जाएगा।

Fact Check : दो साल पहले केदारनाथ में हुए हेलिकॉप्‍टर क्रैश की तस्‍वीर को अब लद्दाख का बताकर किया गया वायरल

Posted By: Pradeep Srivastava

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस