गोरखपुर, जागरण टीम। राजस्थान के अजमेर जिले में कुत्ते को स्कूटी में बांधकर घसीटने के प्रकरण में आनलाइन रिपोर्ट दर्ज कराने वाली सुरभि त्रिपाठी लंबे समय से जानवरों की सुरक्षा और उनके स्वास्थ्य को लेकर काम कर रहीं हैं। पीपल फार एनीमल संस्था से जुड़ी महराजगंज के एडीएम डा. पंकज वर्मा की पत्नी सुरभि अब तक जानवरों के साथ उत्पीड़न के मामले को लेकर महराजगंज, प्रयागराज व सहारनपुर के विभिन्न थानों में 12 मुकदमें दर्ज करा चुकी हैं। जानवरों के खिलाफ होने वाली हिंसा को रोकने के लिए भी उनके द्वारा समय- समय पर अभियान चलाया जाता है।

यहां भी दर्ज कराया है मुकदमा: बीते दिनों महराजगंज जिले के घुघली व श्यामदेउरवा थाना क्षेत्र में मुर्गों को उल्टा टांगने के मामले में आरोपितों के खिलाफ उन्होंने मुकदमा दर्ज कराया था। जिले में जहां भी जानवरों के खिलाफ हिंसा की शिकायत मिलती है वह मुखर होकर आवाज उठाती हैं।

आवास पर करा रहीं 25 जानवरों का इलाज: सुरभि त्रिपाठी कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित आवास पर विभिन्न कारणों से घायल हुए कुत्तों, बकरी, भेड़, बंदर आदि 25 जानवरों का इलाज करा रही हैं। इसके लिए वह नियमित रूप से पशु चिकित्सक को आवास पर बुलाती हैं। कुछ जानवर तो ऐसे हैं जो विभिन्न बीमारियों की चपेट में हैं। उनका बेहतर से बेहतर इलाज हो सके इसके लिए सुरभि त्रिपाठी प्रयासरत हैं।

क्या कहती हैं सुरभि त्रिपाठी: पीपल फार एनिमल संस्था की अहिंसा फेलो सुरभि त्रिपाठी ने बताया कि जानवरों पर होने वाली किसी भी तरह की हिंसा को स्वीकार नहीं किया जा सकता है। इसके लिए लोगों को समय-समय पर जागरूक भी किया जाता है। हिंसा करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कानून का भी सहारा लिया जाता है। राजस्थान के अजमेर जिले में कुत्ते को स्कूटी में बांधकर खींचने की घटना दुखद है। पुन: जानवरों के साथ कोई इस तरह की घटना न करे इसीलिए आनलाइन रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

Edited By: Pragati Chand