गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर के बड़हलगंज थाना क्षेत्र की पूजा व गगहा थाना क्षेत्र की आरती ने अपने-अपने पति पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। उन्होंने एसपी दक्षिणी को प्रार्थना पत्र देकर कहा है कि वह अपने पति के साथ नहीं रहना चाहती हैं। एसपी दक्षिणी ने यह भी आश्वासन दिया कि ससुराल में मारपीट व अन्य समस्याओं को दूर करा दिया जाएगा। बावजूद इसके दोनों महिलाएं ससुराल जाने को तैयार नहीं हुईं।

महिलाओं ने लगाई गुहार, महिला थाने में हो उनके मामले की सुनवाई

सोमवार दोपहर करीब डेढ़ बजे पूजा व आरती एसपी साउथ के कार्यालय में पहुंचीं। पूजा ने प्रार्थना पत्र देकर आरोप लगाया कि उसकी शादी के नौ वर्ष हो चुके हैं। उसका पति मारता-पीटता रहता है। ससुराल लोग भी मारते पीटते रहते हैं। आरती ने भी यही समस्या रखी। उसने यह भी पति कुछ दिन के लिए पुलिस के डर से मारना पीटना छोड़ देगा। लेकिन उसके बाद फिर उसकी स्थिति यही रहेगी। एसपी दक्षिणी एके सिंह ने कहा कि अभी एक बार काउंसलिंग की जरूरत है। दोनों ने गुहार लगाई कि उनके मामले को महिला थाना भेजा जाए।

बिसरा नमूना भेजने में गुजर गई दीवान की छुट्टी

उरुवा थाने के दीवान रामखिलावन ने एसपी साउथ को प्रार्थना पत्र दिया कि भाई की बेटी की शादी के लिए उन्हें 10 दिन की छुट्टी चाहिए। एसपी साउथ ने कहा कि अभी 10 दिन पूर्व ही उन्होंने 10 दिन की छुट्टी ली थी। दीवान ने बताया कि यह छुट्टी बिसरा का नमूना भेजने में गुजर गई। दिन का हिसाब मांगने पर दीवान ने बताया कि दो दिन सीएमओ कार्यालय में, दो दिन विधि विज्ञान प्रयोगशाला सहित छह दिन का ब्यौरा दिया और कहा कि एक दिन आपके आपके कार्यालय में लग गए।

दोनों महिलाओं की समस्या को महिला थाने में भेज दिया गया है। दीवान ने बिसरा जांच के नाम पर झूठ बोला है। जांच के लिए नमूना भेजने में इतना समय नहीं लगता है। मेरे कार्यालय में तो पांच मिनट भी नहीं लगता है। दीवान को चेतावनी देकर छुट्टी स्वीकृत की गई है। - एके सिंह, एसपी साउथ।

Edited By: Pradeep Srivastava