गोरखपुर, जेएनएन। भारत-नेपाल सीमा पर सोनौली के पगडंडी मार्ग से सामान लेकर अपने देश जा रहीं नेपाली महिला तस्करों को रोकने पर हंगामा हो गया। तस्करों ने महिला एसएसबी दल पर हमला बोल दिया। हमले के बाद जब तक एसएसबी की महिला टीम सतर्क होती हमलावर महिलाएं नेपाल भाग गईं। अपने देश की सीमा में पहुंचते ही महिला तस्करों ने नारेबाजी शुरू कर दी। देखते ही देखते सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण हो गई और आवागमन ठप हो गया। जिसके चलते दोनों देशों की फोर्स नोमेंस लैंड पर पहुंच गई। नेपाल बेलहिया पुलिस ने अपनी सीमा का बैरियर गिराकर आवागमन बंद कर दिया। बावजूद इसके नेपाली महिलाओं ने भारतीय सीमा में जम कर पत्थरबाजी की।

सीमा पर पहुंची दोनों देशों की पुलिस फोर्स

एसएसबी महिला जवानों से अभद्रता व भारत के खिलाफ नारेबाजी होता देख भारतीय नागरिक भी आक्रोशित हो गए। उन्होंने भी नारेबाजी कर अपना विरोध जताया। सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए सोनौली सीमा में बैरिकेडिंग कर बड़ी संख्या में पुलिस व एसएसबी जवान तैनात कर दिए गए हैं। मौके पर पहुंंचे एसडीएम नौतनवा प्रमोद कुमार व सीओ नौतनवा अजय सिंह चौहान ने लोगों को शांत कराया। दोनों अधिकारियों ने सशस्त्र पुलिस भैरहवा के डीएसपी को बुलाकर घटनाक्रम से अवगत कराते हुए दोषी महिला तस्करों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। 

डीएसपी ने दर्ज कराई शिकायत

सीओ अजय सिंह चौहान ने बताया कि डीएसपी भैरहवा से शिकायत दर्ज कराई गई है। उन्होंने बताया कि जवान पर हमला भी किया गया और रास्ता बंद कर नारेबाजी की जा रही है। पूरे घटनाक्रम को उच्चाधिकारियों से अवगत कराया गया है। डीएम डा. उज्ज्वल कुमार ने बताया कि घटनाक्रम पर नजर है। नेपाली अधिकारियों से बात कर आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।  नेपाल के रूपनदेही जिले के एसपी प्रवीण पोखरेल ने बताया कि एसएसबी महिला टीम के साथ कहासुनी के बाद नेपाल सीमा में लगा बैरियर गिरा दिया गया है। सीमा खोलने को लेकर प्रशासनिक अधिकारियों से वार्ता चल रही है।

सीमा पर पहुंचे डीएम-एसपी, आवागमन बहाल

तनाव की सूचना पर बुधवार की रात जिलाधिकारी डा.उज्ज्वल कुमार व एसपी प्रदीप गुप्ता सोनौली सीमा पर पहुंचे। दोनों अधिकारी नेपाल के बेलहिया पुलिस चौकी पर नेपाली अधिकारियों से मिलकर जानकारी हासिल की। इस दौरान नेपाल पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर सीमा पर डटे अपने नागरिकों को हटाया। महराजगंज के डीएम डा.उज्ज्वल कुमार ने बताया कि महिला एसएसबी टीम पर हुए हमले की शिकायत नेपाल के अधिकारियों से की गई है। उन्होंने दोषी तस्करों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया है। बातचीत के बाद आवागमन बहाल कर दिया गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप