गोरखपुर, जेएनएन। भारत-नेपाल सीमा पर स्थित महराजगंज जिले के सोनौली थाना क्षेत्र के हरदीडाली में एसएसबी के 66वीं वाहिनी कैंप में शनिवार की देर रात पहरे पर तैनात आरक्षी बशर अहमद (32) ने अपनी राइफल से सीने में गोली मारकर आत्महत्या कर लिया। वह जम्मू कश्मीर के पुंछ जिला के मेंडर तहसील क्षेत्र का निवासी था।

एसएसबी ने थाने में दी तहरीर

एसएसबी जवान द्वारा खुद को गोली मारने की घटना के बाद हड़कंप मच गया। जवानों ने आनन-फानन में इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी। कैंप में मीडियाकर्मियों समेत सभी का प्रवेश रोक दिया गया। घटना की सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। एसएसबी द्वारा थाने में दी गई तहरीर में जवान द्वारा स्वयं को गोली मारने की बात लिखी गई है।

दस दिन पहले घर से लौटा था

सूत्रों के मुताबिक एसएसबी जवान के त्यागपत्र संबंधित प्रकरण उच्चाधिकारियों के विचाराधीन था। जिसके कारण वह तनाव में रहता था। 10 दिन पूर्व ही वह घर से छुट्टी मनाकर वापस लौटा था। शनिवार देर रात कैंप कार्यालय में पहरे पर तैनात आरक्षी ने राइफल से खुद को गोली मार ली। पुलिस अधीक्षक रोहित सिंह साजवान ने कहा कि जवान ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है। उसके परिजनों को घटना की सूचना दे दी गई है।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस