गोरखपुर, जागरण संवाददाता। दिव्यांग बच्चों को सुचारू रूप से पठन-पाठन के लिए केंद्रीय विद्यालयों में विशेष शिक्षक रखे जाएंगे। केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) के निर्देश पर विशेष शिक्षकों के नियमित पद सृजित होने तक प्रत्येक विद्यालय में संविदा पर इनकी तैनाती होगी। जिले के दो विद्यालयों में से नंबर एक में शिक्षक के चयन की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। जबकि दूसरे में चल रही है। 30 नवंबर तक चयन की प्रक्रिया पूरी कर विद्यालयों को मुख्यालय को सूचना भेजनी होगी।

विशेष बीएड धारक ही होंगे पात्र

विशेष शिक्षकों की नियुक्ति के मानक भारतीय पुर्नवास परिषद (आरसीआइ) के अनुसार होंगे। विशेष बीएड धारक ही इसके लिए पात्र होंगे। वर्तमान में सरकारी प्राथमिक स्कूलों में कक्षा एक से पांच तक दस दिव्यांग बच्चों और छठी से आठवीं कक्षा तक 15 दिव्यांग बच्चों का नामांकन होने पर एक विशेष शिक्षक (स्पेशल एजुकेटर) रखने का नियम है। निश्शुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) 2009 के तहत केंद्रीय विद्यालयों में भी इसी के तहत यह प्रक्रिया चल रही है।

जिले के दो विद्यालयों में हैं 50 दिव्यांग बच्चे

जनपद के दो केंद्रीय विद्यालयों एयरफोर्स व फर्टिलाइजर में वर्तमान में लगभग 50 बच्चे अध्ययनरत हैं। इनमें श्रवण बाधित, दृष्टि बाधित, शारीरिक व मानसिक रूप से दिव्यांग बच्चे शामिल हैं। जो कक्षा एक से 12 तक में अध्ययनरत हैं। विशेष शिक्षकों के चयन के बाद इन बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने की राह आसान हो जाएगी। केंद्रीय विद्यालयों में पहली कक्षा एक में प्रवेश के लिए प्रतिवर्ष तीन प्रतिशत सीटें दिव्यांग बच्चों के लिए आरक्षित है। जिन पर उनका प्रवेश लिया जाता है।

क्या कहते हैं प्रधानाचार्य

  • गोरखपुर एयरफोर्स स्थित केंद्रीय विद्यालय नंबर एक के प्रधानाचार्य एसके श्रीवास्तव ने बताया कि मुख्यालय के निर्देश पर दिव्यांग बच्चों को पढ़ाने के लिए संविदा पर विशेष शिक्षकों का चयन किया जाना है। हमारे यह फिलहाल एक शिक्षक का चयन कर प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। अन्य विद्यालयों में अभी चल रही है। शिक्षकों की तैनाती एक शैक्षिक सत्र के लिए होगी। इसके बाद पुन: नये सिरे से चयन किया जाएगा।
  • केंद्रीय विद्यालय फर्टिलाइजर के प्रधानाचार्य आरके मल्ल ने बताया कि दिव्यांग बच्चों के लिए संविदा पर विशेष शिक्षकों की तैनाती की प्रक्रिया चल रही है। मुख्यालय ने जो मानक तय किए है उसका पालन करते हुए जल्द ही यह प्रक्रिया पूर्ण कर ली जाएगी।

Edited By: Pragati Chand

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट