गोरखपुर, जेएनएन। वन्य जीव क्षेत्रों में स्थित रेल लाइनों पर अब हाथी दुर्घटना के शिकार नहीं होंगे। रेल लाइन के आसपास विचरण करने वाली व झुंड के साथ लाइन पार करने वाली हाथियों को रेलवे की नई मधुमक्खी ध्वनि तकनीक यंत्र बचाएगा। जल्द ही इस यंत्र को भारतीय रेलवे के वन्य जीव क्षेत्रों में स्थित रेल लाइनों पर स्थापित किया जाएगा।

रेलवे के पांच अफसरों ने इजाद की तकनीक

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार यंत्र से मधुमक्खियों की तेज आवाज निकलती है, जो हाथियों को विचलित करने में कारगर साबित होगा। तेज आवाज हाथियों को विचलित कर देगी और वह अपना रास्ता बदल देंगे। मधुमक्खी ध्वनि तकनीक यंत्र का इजाद भारतीय रेलवे के पांच अधिकारियों ने मिलकर की है, जिसमें पूर्वोत्तर रेलवे के उप मुख्य सतर्कता अधिकारी डॉ. राकेश भारती और वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर अरविंद कुमार शामिल हैं।

बोर्ड ने अधिकारियों को किया पुरस्कृत

अधिकारियों ने भारतीय रेल राष्ट्रीय अकादमी बड़ोदरा में प्रजेंटेशन दिया था। इसके बाद बोर्ड स्तर पर यंत्रों की समीक्षा की गई, फिर मैलानी सहित वन्य क्षेत्रों में यंत्र को लगाने का अहम निर्णय लिया गया है। भारतीय रेलवे स्तर पर इन अधिकारियों को पुरस्कृत किया गया है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस