बस्ती: जनपद में 15 अक्टूबर से 15 नवंबर तक नहरों की सिल्ट सफाई का कार्य कराया जाएगा। यह निर्देश जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने दी। बुधवार को वह कलेक्ट्रेट सभागार में सिचाई विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक कर रही थीं। कहा कि नहरों के सिल्ट सफाई की कार्ययोजना का मौके पर साइन बोर्ड लगाया जाए।

कहा कि सिल्ट सफाई के कार्यों की सूची संबंधित तहसीलों को भी प्रेषित की जाए। सिचाई विभाग के अधिकारियों के साथ-साथ राजस्व एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कार्य की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए बैठक भी की जाए।

डीएम ने नहरों में सिल्ट स्क्रेपिग एवं सफाई के कार्यो की भौतिक स्थिति से अवगत कराने के लिए जिले के समस्त उप जिलाधिकारी को निर्देशित किया। कहा कि कार्य से संबंधित सहायक अभियंता, जूनियर इंजीनियर के नाम व मोबाइल नंबर सहित सूची भी संबंधित तहसील के उप जिलाधिकारी को उपलब्ध कराए जाएं। सभी कार्यों की कार्य से पहले, कार्य के दौरान एवं कार्य के उपरांत की फोटो एवं ड्रोन वीडियोग्राफी समयानुसार कराया जाए। जिला स्तरीय कमेटी के सदस्यों को अधिशासी अभियंता, सरयू नहर खण्ड-4 राकेश कुमार गौतम द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में बस्ती शाखा प्रणाली एवं खलीलाबाद शाखा प्रणाली के अन्तर्गत कुल 103 नहरें है जिनके सिल्ट सफाई का कार्य कराया जाएगा। इन नहरों की कुल लंबाई 522.46 किमी है। अधिशासी अभियंता, सरयू नहर खंड-अयोध्या के अन्तर्गत जनपद में पड़ने वाले चौधरी चरण सिंह अयोध्या पंप नहर प्रणाली की 11 नहरों की सिल्ट सफाई का कार्य कराया जाएगा। इनकी लंबाई 57.692 किमी है।

अधिशासी अभियंता, सरयू नहर खंड-4 ने बताया कि गोंडा के अन्तर्गत बस्ती जनपद में गोंडा शाखा प्रणाली की कुल आठ नहरों की सिल्ट सफाई का कार्य कराया जाना है। इनकी लंबाई 34.137 किमी है। बस्ती जनपद में 522.46 किमी नहर की सिल्ट सफाई कराई जाएगी। उप जिलाधिकारी ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अमृतपाल कौर, पवन जायसवाल, आनंद श्रीनेत, सुखबीर सिंह की सहमति के साथ कार्य योजना को सहमति प्रदान की गई है।

Edited By: Jagran