गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर से लखनऊ तक की यात्रा करने वाले लोगों के लिए राहत भरी खबर है। अब रास्ते में कुछ खाने की इच्‍छा होने या भूख लगने पर ट्रेन के गंतव्य तक पहुंचने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। सीट पर ही चाय, बिस्किट, नमकीन और जूस आदि पैक्ड खानपान सामग्री मिल जाएगी। इससे यात्रियों को काफी राहत म‍िलेगी।  

आइआरसीटीसी ने शुरू की तैयारी

इंडियन रेलवे कैंटर‍िंग एंड टूरिज्म कार्पोरेशन (आइआरसीटीसी) ने 02531-02532 गोरखपुर- लखनऊ इंटरसिटी एक्सप्रेस में ट्रेन साइड वेंड‍िंग (टीएसवी) की शुरुआत कर दी है।

आइआरसीटीसी ने शुरू की टीएसवी सेवा

हालांकि कोरोना काल में यह ट्रेन अधिक समय तक निरस्त ही रही है। लेकिन जब भी चली है तो यात्रियों को खानपान को लेकर परेशानी उठानी पड़ी है। यात्रियों की भीड़ और मांग बढ़ते ही आइआरसीटीसी ने फिर से टीएसवी शुरू कर दी है। वैसे भी ट्रेनों में पका हुआ नाश्ता और भोजन (कुक्ड फूड) परोसने पर रोक लगने से पेंट्रीकार की उपयोगिता समाप्त हो गई है।

बांद्रा एक्सप्रेस में पेंट्रीकार लगाने की तैयारी

गोरखपुर से बनकर चलने वाली पूर्वोत्तर रेलवे की ट्रेनों में पेंट्रीकार नहीं लग रही हैं। अब ट्रेनों में यात्रियों को टीएसवी के अलावा ई कैटर‍िंग और रेडी टू ईट सेवा ही उपलब्ध कराई जा रही है। जानकारों के अनुसार यात्रियों की मांग पर गोरखपुर के रास्ते चलने वाली बांद्रा एक्सप्रेस में पेंट्रीकार लगाने की तैयारी चल रही है। हालांकि, इस ट्रेन में भी खानपान की सिर्फ पैक्ड सामग्री ही मिलेगी।

रेलवे स्टेशन पर फव्वारा चलाने की तैयारी

विश्वस्तरीय रेलवे स्टेशन गोरखपुर परिसर में कदम रखते ही यात्रियों की सारी थकान दूर हो जाएगी। स्टेशन के फव्वारे तेज धूप और गर्मी में स्टेशन पहुंचने वाले यात्रियों को तरोताजा करेंगे। स्टेशन प्रबंधन ने मेन गेट पर निर्माणाधीन फव्वारा को जोरशोर से चलाने की तैयारी शुरू कर दी है। लाइट आदि लगाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। जानकारों के अनुसार अगले सप्ताह से फव्वारे चलने लगेंगे।

Edited By: Pradeep Srivastava