गोरखपुर, जेएनएन। पर्यटनों स्थलों के प्रचार-प्रसार के लिए गोरखपुर के दर्शनीय स्थलों की डाक्यूमेंट्री फिल्म बनाने का कार्य शुरू हो गया है। लखनऊ से गोरखपुर पहुंची चार सदस्यीय टीम ने पहले दिन गोरखनाथ मंदिर, टेराकोटा गांव औरंगाबाद, जटाशंकर गुरुद्वारा, आरोग्य मंदिर और सूर्यकुंड की वीडियो फिल्म बनाने का कार्य पूरा किया।

पौन घंटे की बनेगी डाक्यूमेंट्री फिल्म

क्षेत्रीय पर्यटन विभाग के मुताबिक दो दर्जन स्थानों की शूटिंग करके करीब पौन घंटे की डाक्यूमेंट्री फिल्म बननी है। डाक्यूमेंट्री बनाने की जिम्मेदारी क्रांति मीडिया वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड को सौंपी गई है। कंपनी की ओर से भेजी गई चार सदस्यीय टीम का नेतृत्व रितेश भारती कर रहे हैं।

सबसे पहले टीम पहुंची गोरखनाथ

जिले में पहुंचने के बाद टीम सबसे पहले गोरखनाथ मंदिर पहुंची। जटाशंकर गुरुद्वारा, सूर्यकुंड, आरोग्य मंदिर के अलावा ओडीओपी गांव औरंगाबाद में टेराकोटा के लिए दुनिया भर में मशहूर स्थान की फिल्म भी बनाई गई। टीम गीता वाटिका भी पहुंची। वहां पर भी शूटिंग का कार्य पूरा किया गया। 

इन स्‍थानों पर भी बनेगी फिल्‍म

गीता प्रेस, रामगढ़ताल, डोहरिया कला, चौरीचौरा स्थित बंधु सिंह स्मारक, तरकुलहा माता मंदिर, पं. रामप्रसाद बिस्मिल स्मारक, क्राइस्ट चर्च, इमामबाड़ा, मुक्तेश्वरनाथ मंदिर, मुंजेश्वर नाथ मंदिर, रेलवे स्टेशन, कुसम्हीं जंगल, राजकीय बौद्ध संग्रहालय, वीर बहादुर सिंह नक्षत्रशाला, घंटाघर, राजघाट, दिगंबर जैन मंदिर, गोलघर की फिल्म भी बनेगी। क्षेत्रीय पर्यटक अधिकारी रवींद्र कुमार मिश्र ने बताया कि डाक्यूमेंटी फिल्म को विभिन्न मीडिया मंचों पर अपलोड किया जाएगा। इसे देखकर पर्यटकों की आवक और ठहराव गोरखपुर में बढ़ेगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस