गोरखपुर , जेएनएनराज्यसभा में भाजपा का मुख्य सचेतक बनाए जाने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद शिव प्रताप शुक्ल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का आभार जताया है। पद मिलने की घोषणा के बाद जागरण से बातचीत में उन्होंने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने उनपर जो भरोसा जताया है, उसपर खरा उतरने की वह हर संभव कोशिश करेंगे। 

शिव प्रताप का राजनीति सफर 

शिवप्रताप शुक्ल के राजनीतिक सफर की शुरुआत 1970 में हुई थी। शुरुआती दौर में वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े रहे। इमरजेंसी घोषित होने के बाद मीसा के तहत गिरफ्तार होने वाले वह प्रदेश के पहले व्यक्ति थे। 2012 में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष बने। गोरखपुर नगर से 1989 में कांग्रेस के सुनील शास्त्री को हराकर पहली बार विधानसभा में पहुंचे। 1989, 1991, 1993 और 1996 में लगातार गोरखपुर से विधायक चुने गये। तीन बार प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे। मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल में उन्हें केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री का ओहदा भी हासिल हुआ था।

पूर्व केंद्रीय मंत्री को राज्यसभा में पार्टी का मुख्य सचेतक बनाए जाने की सूचना मिलते ही भाजपा कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर दौड़ गई। बहुत से पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने उन्हें फोन करके बधाई दी। शिव प्रताप शुक्ल के भतीजे और भाजपा नेता अष्टभुजा शुक्ला ने बताया कि कांग्रेस देने के लिए बहुत से लोग पूर्व केंद्रीय मंत्री के आवास पर भी पहुंचे। 

बधाई देने वालों में भाजपा के प्रदेश मंत्री कामेश्वर सिंह, विधायक फतेह सिंह, शीतल पांडेय, संत प्रसाद, डॉ। विमलेश पासवान, संगीता यादव, महेंद्र पाल सिंह, जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष डॉ। सत्येंद्र सिन्हा आदि शामिल रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस