गोरखपुर, जेएनएन। कुशीनगर जिले के खड्डा के एसडीएम रहे दिनेश कुमार ने शुक्रवार को आधी रात को नगर के गायत्री मंदिर में अपने महिला मित्र से शादी रचाई। यह वही महिला मित्र है जिसने उन पर यौन शोषण का आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी डाॅ.अनिल कुमार सिंह से शिकायत की थी। मामला सामने आने के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। दिन भर गुपचुप चली प्रशासनिक कवायद के बाद आधी रात को एसडीएम शादी के लिए तैयार हुए।

 गांव बरईपुर थाना अहिरौला जिला आजमगढ़ निवासी 35 वर्षीय महिला शुक्रवार को कलेक्ट्रेट पहुंच डीएम को शिकायती पत्र देकर एसडीएम दिनेश कुमार पर शादी का झांसा देकर शोषण का आरोप लगाया।

बताया कि बीते चार साल से एसडीएम उसका यौन शोषण कर रहे हैं। दो बार उन्होंने गर्भपात भी कराया। शादी के लिए दबाव बनाने पर मार-पीट भी करते थे। इतना सुनते ही डीएम समेत मौजूद अधिकारी-कर्मचारी हैरान रह गए। डीएम ने इसकी जांच एडीएम विंध्यवासिनी राय को सौंप तत्काल समाधान का निर्देश दिया। दिन भर चले हाई-प्रोफाइल इस ड्रामे का अंत तब हुआ जब महिला मित्र के आरोपों का एसडीएम दिनेश कुमार कोई उचित जवाब नहीं दे सके।

तबादला के बाद सामान लेने आए थे दिनेश कुमार

दिनेश कुमार का तबादला बीते दिनों हापुड़ जिले में एसडीएम पद पर हुआ था। कुशीनगर से रिलीव होकर उन्होंने अपने नवीन कार्यस्थल पर कार्यभार भी ग्रहण कर लिया। शुक्रवार को वे खड्डा स्थित सरकारी आवास से सामान लेने आए थे। इसकी भनक मिलते ही रेनू कुशीनगर पहुंच गई और डीएम से उनकी शिकायत कर दी।

एसडीएम सदर व हाटा बने गवाह

गायत्री मंदिर में हिंदू रीति रिवाज से दिनेश कुमार व उनकी महिला मित्र की शादी के गवाह प्रशासनिक अधिकारी बने। पुजारी सुरेश मिश्र द्वारा संपन्न कराई शादी के गवाह के रूप में एसडीएम सदर रामकेश यादव व एसडीएम हाटा प्रमोद तिवारी मौजूद रहे।

ऐसे हुई थी दाेनों की मुलाकात 

दिनेश कुमार आजमगढ़ जिले के गांव बुढ़नपुर के निवासी हैं। जबकि महिला उनके बगल की गांव की रहने वाली है। चार साल पूर्व बीएड की पढ़ाई के दौरान रेनू को प्रयोगात्मक परीक्षा हेतु मुरादाबाद जाना था। घर के लोगों ने क्षेत्र के प्रशासनिक अधिकारी पद पर कार्यरत दिनेश कुमार से मदद मांगी तो वे परिजनों से उसे फैजाबाद तक बस से भिजवाने को कहे। महिला के अनुसार फैजाबाद पहुंचने पर दिनेश कुमार उसे खुद लेने आए और अपने किराए के मकान में ले गए। वहां वे अकेले रहते थे। रात को उन्होंने दूध पीने को दिया। इसके बाद मैं अचेत होने लगी। इसी बीच उन्होंने ने मेरे साथ दुष्कर्म किया। शिकायत पर उन्होंने विश्वास दिलाया कि वे उससे शादी करेंगे। तब से मैं उनके लगातार संपर्क में थी। खड्डा एसडीएम रहते उन्होंने मुझे अपने साथ भी रखा था। इस दौरान एक दिन शादी के लिए कही तो मारपीट कर उन्होंने खदेड़ दिया। 

दो साल पूर्व पत्नी से हो गया तलाक

दिनेश कुमार शादीशुदा थे। उनके जीवन में किसी दूसरी महिला के आने की जानकारी उनकी पत्नी को भी हो गई थी। जिसे लेकर दोनों में कहासुनी होने लगी। बात इस कदर बिगड़ गई कि दो साल पूर्व दोनों में तलाक हो गया।

Posted By: Satish Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप