गोरखपुर, जागरण संवाददाता। परिषदीय स्कूलों में स्काउट-गाइड की गतिविधियों को तेज करने की कवायद शुरू हो गई है। इससे एक बार फिर से वर्षों बाद बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में स्काउट-गाइड के क्रियाकलाप ब'चों की शैक्षिक गतिविधियों का हिस्सा बनेंगे। इसके लिए बेसिक शिक्षा निदेशक ने जिले के पंजीकृत विद्यार्थियों वाले जूनियर हाईस्कूल (उ'च प्राथमिक) को 38 हजार 875 रुपये की धनराशि जारी कर दी है।

धनराशि की गई जारी

बालचर स्काउटिंग को लेकर जारी धनराशि करते हुए बेसिक शिक्षा निदेशक ने बीएसए को इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं, ताकि स्काउट-गाइड कार्यक्रमों का नियमित रूप से संचालन हो सके। निर्देश में स्पष्ट किया गया है कि धनराशि का आवंटन परिषदीय विद्यालयों में वर्ष 2018-19, 2019-20 तथा 2020-21 में पंजीकृत कब व बुलबुल स्काउट दलों के वर्ष 2021-22 में नवीनीकरण के लिए की गई मांग के आधार पर किया गया है। जिसका उपयोग स्काउट-गाइड की गतिविधियों के संचालन में की जा सके। धनराशि का उपभोग प्रमाण पत्र भी उपलब्ध कराना होगा।

स्‍काउट दलों के नवीनीकरण का शासन ने दिया निर्देश

बीएसए रमेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि शासन स्तर से स्काउट दलों के नवीनीकरण व इससे जुड़ी गतिविधियों के लिए धनराशि जारी कर दी गई है। जल्द ही संस्था के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर स्कूलों का चयन, दलों का गठन, पंजीकरण व नवीनीकरण की प्रक्रिया पूर्ण कर ली जाएगी, ताकि स्काउट-गाइड की गतिविधियों का क्रियान्वयन हो सके।

24 हजार विद्यार्थियों ने दी गोविवि की सेमेस्टर परीक्षा

'वायस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम के तहत दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय और संबद्ध महाविद्यालयों में चल रही स्नातक और परास्नातक की सेमेस्टर परीक्षा में मंगलवार को दोनों पालियों में कुल 24484 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। पहली पाली में आयोजित प्राचीन इतिहास तृतीय कोर्स में 16208 और दूसरी पाली में आयोजित वाणिज्य, बैंङ्क्षकग एंड इंश्योरेंस और बीबीए तृतीय कोर्स में करीब 8276 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए।

महाविद्यालयों ने विश्‍वविद्यालय से जोड़ा सीसी टीवी कैमरा

विश्वविद्यालय प्रशासन की कड़ी चेतावनी के बाद सभी महाविद्यालयों ने अपने परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरों को विश्वविद्यालय की आनलाइन सेल द्वारा दिए गए ङ्क्षलक से जोड़ दिया, जिसके चलते विश्वविद्यालय को परीक्षा की आनलाइन निगरानी करने में सुविधा हुई। विवि के आठ फ्लाइंग स्क्वाड ने लाइव ट्रैङ्क्षकग डिवाइस के साथ दो दर्जन से अधिक परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया। जानकारी के मुताबिक किसी भी केंद्र पर किसी तरह नकल को लेकर किसी तरह की गड़बड़ी नहीं पाई गई। बुधवार को 26 जनवरी होने की वजह से परीक्षा नहीं होगी। परीक्षाओं का क्रम 27 जनवरी से फिर शुरू होगा।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi