गोरखपुर, जागरण संवाददाता। नगर पालिका सिद्धार्थनगर के सफाई कर्मचारियों ने गुरुवार की सुबह कार्य बहिष्कार कर दिया। नगर पालिका भवन में गांधी प्रतिमा के पास धरना पर बैठ गए। वह समय से वेतन भुगतान की मांग कर रहे थे। इससे नगर में सफाई व्यवस्था ध्वस्त नजर आई। त्योहार के मौसम में जगह-जगह कूड़े का ढेर लगा रहा। सुबह नियमित कूड़ा उठाने वाली गाड़ियां भी नहीं भी चली। लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

नगर पालिका में कार्यरत हैं 295 सफाई कर्मचारी

जिलाध्यक्ष सफाई कर्मचारी मजदूर संघ राजेश यादव ने कहा नगर पालिका में 295 सफाई कर्मचारी कार्यरत हैं। इसमें दस नियमित हैं। शेष 40 की संविदा और 245 को आउट सोर्सिंग से तैनात किया गया है। प्रत्येक माह वेतन व मानदेय का भुगतान विलंब से होता है। जो 22 से 25 तारीख तक कर्मचारियों को मिलता है।

त्‍योहार की वजह से कर्मचारियों कर रहे पहले वेतन भुगतान की मांग

त्योहार को देखते हुए इस बार नगर पालिका के अधिकारियों से चार से पांच तारीख तक भुगतान करने की मांग की गई थी। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। दशहरा आ गया है। लेकिन अभी तक किसी भी कर्मी को वेतन व मानदेय नहीं मिला है। सात वर्ष से कर्मचारियों का पीएफ काटा जा रहा है। लेकिन यह धन कहां जमा हो रहा है, किसी को नहीं मालूम है। सुनील सिंह, दुर्गेश बाल्मिकी, उमाशंकर, अरुण गौड़, बबुआ, धर्मराज, शिवपूजन, संतोष, उषा, सोना, बसंती, इंद्रावती, साेममती आदि मौजूद रहे।

निर्धारित तिथि पर होगा वेतन का भुगतान

नगर पालिका अध्‍यक्ष श्‍याम विहारी जायसवाल ने बताया कि नगर पालिका में कार्यरत सफाई कर्मचारियों के वेतन व मानदेय का नियमित भुगतान किया जाता है। यह परिवार के सदस्य हैं। इनकी समस्या का समाधान किया जाएगा। सफाई कर्मियों से वार्ता की जाएगी। त्योहार को देखते हुए जल्द वेतन व मानदेय का भुगतान कराया जाएगा। वेतन व मानदेय भुगतान की एक निर्धारित तिथि है। इसका निर्धारण पूर्ववर्ती बोर्ड के समय से किया गया है।

Edited By: Navneet Prakash Tripathi