गोरखपुर, जेएनएन। बालीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक शुक्रवार को रिलीज हो गई है। जिले में समाजवादी पार्टी के चंद कार्यकर्ता व पूर्व पदाधिकारी भी फिल्म देखने पहुंचे। इसमें कई सपाई ऐसे शामिल रहे, जिन्होंने पिछले दो वर्षों में हाल में कोई मूवी देखी ही नहीं थी।जैसा कि अनुमान लगाया जा रहा  था कि फिल्‍म देखने वाले टूट पड़ेंगे, पर यहां तो फिल्‍म के शौकीनों की भीड़ भी नहीं रही।

पुलिस भी रही मुस्‍तैद

सोशल मीडिया पर छपाक खूब चर्चा में है। फिल्म को लेकर कहीं कोई अशांति न हो इसे लेकर पुलिस भी मुस्तैद रही। शहर के सिटी माल व विभिन्न बाक्स आफिस के पास पुलिस मौजूद रही। समाजवादी पार्टी के निवर्तमान जिलाध्यक्ष अवधेश यादव, निवर्तमान जिला उपाध्यक्ष अशोक यादव व लोहिया वाहिनी के पूर्व जिलाध्यक्ष संजय पहलवान भी छपाक मूवी देखने एडी माल पहुंचे।

क्‍या बोले सपाई

निवर्तमान जिलाध्यक्ष अवधेश यादव ने बताया कि यह एक सामाजिक मूवी है। उन्होंने बताया कि पिक्चर देखने के लिए पार्टी का कोई दिशा निर्देश नहीं था। वह खुद से मूवी देखने पहुंचे हैं। निवर्तमान जिला उपाध्यक्ष अशोक यादव ने कहा कि उन्होंने पिछली मूवी दो वर्ष पहले देखी थी, पर इस सामाजिक फिल्म के प्रमोट करने लिए उन्होंने साथियों संग यह मूवी देखी। पूर्व जिलाध्यक्ष लोहिया वाहिनी संजय पहलवान ने कहा कि वह सामाजिक फिल्मे देखते रहते हैं। आपस में चर्चा हुई तो तीनों लोग एक साथ ही फिल्म देखने पहुंचे।

जेएनयू विजिट के बाद चर्चा में छपाक

छपाक मूवी रिलीज होने से पहले ही काफी बवाल हो चुका है। इसमें कई लोग फिल्म का बहिष्कार करने की अपील कर रहे थे। दरअसल, अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की जेएनयू विजिट के बाद छपाक मूवी भी चर्चा में आ गई थीं।

कम रही भीड़

हालांकि बाक्स आफिस पर इसे लेकर भीड़ कम देखी जा रही है। इसकी अपेक्षा तानाजी मूवी के लिए भारी भीड़ देखी जा रही है। छपाक मूवी देखने पहुंची जीनत खान ने कहा कि इस मूवी के लिए वह प्रतीक्षारत थीं। महिला प्रधान फिल्में देखना उन्हें अच्छा लगता है। इससे थोड़ी ऊर्जा मिलती है। फिल्म देखने पहुंचीं सीमा ने कहा कि वह सामान्य रूप से मूवी देखने आ गई थीं। यहां पहुंचने पर पता चला कि इस समय छपाक के शो का समय तो उसे देख लिया।

महिलाओं को नहीं भायी फिल्‍म

फिल्म की तारीफ मूवी देखकर लौटी कुछ महिलाओं ने नाम बताने से इंकार किया। उन्होंने कहा कि स्टोरी में कुछ और पहलू भी दिखाए जाने चाहिए थे। लोग इसे दिल को छू जाने वाली कहानी बता रहे हैं।

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस