गोरखपुर, जेएनएन। गोरखपुर में बारिश ने तीस साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। बीते 24 घंटों में इतना पानी बरसा कि लोगों के घरों में पानी घुस गया है। पूर्व मेयर सत्‍या पांडेय के घर में भी पानी घुस गया है। 24 घंटे से शहर में जन जीवन अस्‍त व्‍यस्‍त है।

बन गया नया रिकार्ड

भारी बारिश हर रोज नए रिकार्ड बना रही है। लगातार चार दिन हुई भारी बारिश बीते 30 वर्ष के जुलाई के पहले पखवारे की बारिश पर भारी पड़ी है। महज चार दिन में 483 मिलीमीटर हुई बारिश ने एक नया रिकार्ड बनाया है। शनिवार की रात में ही 120.6 मिलीमीटर बारिश हुई। बीते 30 वर्ष के जुलाई माह के अध्ययन में अबतक पहले पखवारे में अधिकतम बारिश का रिकार्ड वर्ष 1998 के नाम था, जब 441 मिलीमीटर बारिश हुई थी लेकिन इस बार यह रिकार्ड टूट गया है। 2009 में जुलाई के पहले पखवारे में 341.6 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई थी।

2008 की जुलाई में हुई थी ऐसी बारिश

भारी बारिश के दिनों के आंकड़े ने भी रिकार्ड में एक वर्ष की बढ़ोतरी की है। शुक्रवार तक लगातार तीन दिन हुई भारी बारिश ने 10 साल का रिकार्ड तोड़ा था तो अब लगातार चार दिन हुई भारी बारिश ने इस रिकार्ड को 12 वर्ष पुराने रिकार्ड के साथ लाकर खड़ा कर दिया है। इससे पहले 2008 की जुलाई में चार दिन भारी वर्षा हुई थी। बता दें कि 24 घंटे में 64.5 मिलीमीटर से अधिक की बारिश को मौसम विभाग के आंकड़ों में भारी बारिश के रूप में दर्ज किया जाता है।

जुलाई के पहले पखवारे में बीते 30 वर्ष के अधिकतम बारिश वाले वर्ष

वर्ष             बारिश (मिली में)

1989                341.4

1998                441.3

2008                305.6

2009                341.6

2019                483.4   

चार दिन के भारी वर्षा का आंकड़ा

तिथि          वर्षा (मिमी में)

 9 जुलाई          125.5

10 जुलाई          70.0

11 जुलाई          86.6

13 जुलाई         120.6

जारी है बारिश

रविवार को भी रुक-रुक कर बारिशत हो रही है। मौसम विशेषज्ञ कैलाश पांडेय ने बताया कि बीते सोमवार की शाम से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला रविवार को दिनभर जारी रह सकता है।

करंट से मां-बेटे की मौत

उधर, पिपराइच के ग्राम सभा महराजी में टुल्लू पंप में उतरे करंट की चपेट में आने से पहले मां और बाद में बेटे की मौत हो गई। ग्राम सभा महराजी निवासी शम्भू गौड़ की पत्नी आशा देवी घर में सफाई कर रही थीं।

इस दौरान टुल्लू पंप में आ रहे करंट की चपेट में आकर गिर गईं। घर के बाहर गाय को नहला रहा बेटा अंकुर (18 वर्ष)  मां को उठाने के लिए झुका तो खुद गिर गया। थोड़ी देर बाद पहुंचे आसपास के लोगों ने टुल्लू पंप बंद कर दोनों को अस्पताल पहुंचाया। डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस