गोरखपुर, जागरण संवाददाता। Promotion Group d Staff of Railways: उच्च शैक्षिक योग्यता वाले एक ही वेतनमान पर तैनात ग्रुप डी (चतुर्थ श्रेणी) रेलकर्मियों के लिए राहत भरी खबर है। 15 साल से 1800 ग्रेड पर कार्य करने वाले कर्मचारियों का वेतनमान बढ़ाकर 1900 ग्रेड पे पर तैनात किया जाएगा। स्थाई वार्ता तंत्र की बैठक में नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवे (एनएफआइआर) की मांग पर रेलवे बोर्ड ने वेतनमान बढ़ाते हुए पदोन्नति का निर्णय लिया है।

बोर्ड ने जोनल कार्यालयों से पूछा, चतुर्थ श्रेणी कर्मियों की पदोन्नति में विलंब क्यों

रेलवे बोर्ड के इस निर्णय पर रेलकर्मियों में खुशी है। पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ (पीआरकेएस) ने प्रसन्नता जताते हुए एनएफआइआर के महामंत्री डा. एम राघवैया और बोर्ड के प्रति आभार जताया है। संघ के महामंत्री विनोद कुमार राय ने बताया कि उच्च शैक्षिक योग्यता के बाद भी हजारों गैंगमैन 1800 ग्रेड पे पर ही नौकरी कर रहे हैं। शैक्षिक योग्यता के बाद भी उन्हें आगे बढ़ने का अवसर नहीं मिल पा रहा है।

संयुक्त महामंत्री एके सिंह के अनुसार एनएफआइआर की मांग पर रेलवे बोर्ड ने कहा है कि ऐसे कर्मचारियों को अपनी योग्यता के अनुसार आगे बढ़ने के लिए एक अवसर प्रदान करनी चाहिए। बोर्ड ने इस संबंध में सभी जोनल कार्यालयों से रिपोर्ट भी मांगा है। साथ ही पूछा है कि पदोन्नति में विलंब क्यों, स्पष्ट करें।

विकसित किए जा रहे छह गतिशक्ति मल्टी माडल कार्गो टर्मिनल

पूर्वोत्तर रेलवे में छह गतिशक्ति मल्टी माडल कार्गो टर्मिनल विकसित किए जा रहे हैं। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार लखनऊ मंडल में चार तथा इज्जतनगर मंडल में दो टर्मिनल विकसित हो रहे हैं जिसमें तीन टर्मिनल विकसित किए जा चुके हैं।

लखनऊ मण्डल में गोरखपुर-आनन्दनगर रूट पर नकहा जंगल स्टेशन पर हिन्दुस्तान उर्वरक एवं रसायन लिमिटेड के लिए, गोरखपुर- बस्ती रेल खण्ड के सहजनवां रेलवे स्टेशन के पास स्टील डिवीजन के लिए तथा इज्जतनगर मंडल के कानपुर सेण्ट्रल- फर्रूखाबाद खण्ड पर जशोदा स्टेशन पर मल्टी मॉडल कार्गो टर्मिनल बनाया गया है। टर्मिनल का विकास हो जाने पर पूर्वोत्तर रेलवे में माल परिवहन का क्षेत्र तैयार होगा। टर्मिनलों के विकास से उद्योगों को सहूलियत और रेल प्रशासन को पर्याप्त मात्रा में सामग्री उपलब्ध हो रही है।

Edited By: Pradeep Srivastava