गोरखपुर, जेएनएन : कुशीनगर जिले में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। आए दिन कोरोना से मौतें भी हो रही हैं, जबकि कुछ व्यवसायी वैश्विक आपदा को आय का अवसर बना लिए हैं। मास्क, सैनिटाइजर, पीपीई किट, आक्सीमीटर खरीदने में जरूरतमंदों की जेब ढीली हो रही हैं।

मार्च में कम थी मास्‍क, सैनिटाइजर, पीपीई किट, आक्‍सीमीटर आदि की डिमांड

मार्च में मास्क, सैनिटाइजर, पीपीई किट, आक्सीमीटर, थर्मामीटर व फेस शील्ड की डिमांड काफी कम थी। अप्रैल में जब कोरोना का संक्रमण अचानक तेजी से बढऩे लगा तो आवश्यक उपकरणों की मांग बढ़ गई।

मांग बढ़ी तो बाजार में कम पड़ गए सामान

मांग बढ़ी तो बाजार में सामान कम पड़ गए। मेडिकल स्टोर संचालकों का कहना है कि जितनी मांग है, उसकी एक चौथाई भी आपूर्ति नहीं मिल पा रही है। कसया नगर में कई मेडिकल स्टोरों पर टेकुआटार के अमित, सपहां के किशोर, सोहसा के गजेंद्र आदि लोग आवश्यक उपकरण के लिए चक्कर लगाते दिखे। कुछ लोगों को उपकरण नहीं मिले तो निराश होकर लौट गए।

कोरोना से संबंधित दवा एवं उपकरणों की काफी है डिमांड

नगर के प्रमुख थोक दवा व्यवसायी अजय गुप्ता, अवधेश गुप्ता, अरविंद जायसवाल, पंकज कुमार, अरविंद सिंह, मुहम्मद अमीर व कृष्ण कुमार जायसवाल ने बताया कि कोरोना से संबंधित दवा एवं उपकरणों की डिमांड काफी अधिक है और बाहर से आपूर्ति काफी कम हो गई है। कुछ मिल भी रहा है तो काफी मशक्कत और ऊंचे दर पर। जो भी उपकरण रहते हैं, उन्हे ग्राहकों को उचित मूल्य पर दिया जाता है। फुटकर दुकानदारों को भी ग्राहकों से अधिक मूल्य न लेने का अनुरोध किया जा रहा है।

इस मूल्य पर मिल रहा समान

मास्क- 10 से 20 रुपये प्रति पीस

पीपीई किट- 600 से 700 रुपये प्रति किट

आक्‍सीमीटर- 1400 से 1600 तक

सैनिटाइजर-  500 मिली 200 से 250 रुपये में

थर्मामीटर- 160 से 170 रुपये में

फेस शील्ड- 100 से 120 रुपये