गोरखपुर, जेएनएन। झंगहा इलाके में करही बंधे के पास नदी के किनारे हुई चचेरे भाइयों की हत्या के समय मौजूद रहा उनका साथी मुकेश पुलिस के हत्थे चढ़ गया। उससे पूछताछ में हत्या से जुड़े अहम तथ्य सामने आने की उम्मीद है। फिलहाल पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि हत्याकांड में मुकेश की क्या भूमिका है? वह पीडि़त है या फिर आरोपित? मुकेश के अलावा दो महिलाओं सहित आधा दर्जन लोग हिरासत में लिए गए हैं। छानबीन में दोनों भाइयों के कई विवाद सामने आए हैं। इलाके में दोनों भाइयों के दबंगई दिखाने की बात भी सामने आई है। मुकेश से पूछताछ कर और पुराने विवादों को खंगाल कर दोनों भाइयों की हत्या की वजह पता लगाने की कोशिश की जा रही है।

शव रखकर लगाया जाम

पोस्टमार्टम के बाद दोनों भाइयों का शव पिकअप से लेकर परिजन रामनगर कडज़हां पहुंचे। आक्रोशित ग्रामीणों ने गांव के बाहर गोरखपुर-देवरिया मार्ग पर पिकअप रोक कर जाम लगा दिया। करीब 45 मिनट तक चले प्रदर्शन के दौरान परिजन और ग्रामीण हत्यारों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग करते रहे। जाम की सूचना मिलने पर संतकबीरनगर के सांसद प्रवीण निषाद के भाई भी मौके पर पहुंचे थे। सांसद के भाई और पुलिस ने समझा-बुझाकर जाम खत्म कराया। बाद में परिजनों ने गांव के पास ही तुर्रा नाले पर दोनों शवों का अंतिम संस्कार कर दिया।

आशनाई को लेकर विवाद पर भी है पुलिस की नजर

एक युवती से प्रेम संबंध को लेकर भी दोनों भाइयों का कुछ लोगों से विवाद चल रहा  था। कुछ दिन पहले इसको लेकर एक प्रभावशाली परिवार के लोगों से उनकी मारपीट भी हुई थी। उस समय संख्या बल अधिक होने की वजह से दिवाकर उन पर भारी पड़ा था। पुलिस इस बिंदु को भी ध्यान में रखकर छानबीन कर रही है।

बांध के किनारे गोली मारकर हुई थी हत्‍या

खोराबार क्षेत्र के रामनगर कडज़हां निवासी दिवाकर निषाद और उसके चचेरे भाई कृष्णा की रविवार को करही बंधे के पास नदी के किनारे गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। चरवाहों ने दिवाकर और कृष्णा को तीन अन्य युवकों के साथ घटना से पहले नदी के किनारे बैठकर शराब पीते देखा था। घटना के बाद मौके पर पहुंचे मृतकों के परिजनों ने बताया था कि खोराबार इलाके के ही कुरमौल निवासी मुकेश दिन में बारह बजे के आसपास चचेरे भाइयों को घर से बुलाकर ले गया था। इसके बाद तीन बजे के आसपास दोनों भाइयों की हत्या कर दी गई। घटनास्थल से 9 एमएम पिस्टल के दो खोखे बरामद हुए। वारदात के बाद से ही मुकेश फरार था। अब वह पुलिस के हाथ लग गया। बेलीपार थाने में उससे पूछताछ की जा रही है।

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस