गोरखपुर, जेएनएन। संजय गांधी पीजीआइ के दो डाॅक्टरों का एक टीम शनिवार को गोरखपुर पहुंचा। टीम में शामिल डाॅ. अफजल और डाॅ. अमित रस्तोगी ने मेडिकल काॅलेज में कोविड-19 के इलाज का इंतजाम देखा। पीपीई किट से लैस होकर उन्होंने आइसीयू में भर्ती मरीजों से मुलाकात की और उनसे इलाज का फीडबैक लिया। इंतजाम को लेकर निरीक्षण के बाद दोनों डाॅक्टरों ने मेडिकल काॅलेज के डाॅक्टरों के साथ बैठक की और इलाज को लेकर एक-दूसरे से जानकारी साझा की।

मेडिकल काॅलेज पहुंचने के बाद पीजीआइ के डाॅक्टर सबसे पहले कोरोना वार्ड गए और वहां का इंतजाम देखा। उसके बाद वह कोरोना के 40 बेड आसीयू में गए। वहां मरीजों से बात करने के लिए उन्होंने पीपीइ किट पहना। आइसीयू में आक्सीजन और वेंटिलेटर के इंतजाम की अद्यतन स्थिति के बारे में पूछा। वहां ड्यूटी कर रहे डाॅक्टरों से मरीजों को दी जा रही दवाओं की भी जानकारी ली। उन्होंने काॅलेज के डाॅक्टरों को सलाह दी कि मरीजों का इलाज उनके अन्य रोगों को ध्यान में रखकर किया जाए। इलाज में समझ को लेकर किसी भी तरह हिचकिचाहट हो तो उसे लेकर विशेषज्ञों से बेहिचक सलाह ली जाए। ऐसा करके ही मरीजों की जान बचाई जा सकती है। प्राचार्य डाॅ. गणेश कुमार से पीजीआई की टीम ने दवाओं की उपलब्धता के बारे में भी विस्तार से पूछा। मेडिकल काॅलेज के निरीक्षण के बाद टीम एनेक्सी भवन पहुंची, वहां कमिश्नर के साथ बैठक कर पूरे मंडल में कोरोना के इलाज के इंतजाम की जानकारी ली। 

बैठक में कमिश्नर जयंत नार्लिकर के अलावा एडी हेल्थ डाॅ. जनार्दन त्रिपाठी और सीएमओ डाॅ. श्रीकांत तिवारी मौजूद रहे।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस