महराजगंज: कोरोना महामारी की चपेट में आए जनजीवन की सुरक्षा के लिए फिजिकल डिस्टेंसिग को देखते हुए सरकार के निर्देश से बंद सवारी और एक्सप्रेस गाड़ियों का पुन: संचालन न होने से यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है। यात्रियों ने इसे फिर से शुरू करने की मांग की है।

कोल्हुई, लक्ष्मीपुर, भगीरथपुर, नौतनवा आदि सभी जगहों पर यात्रियों को परेशानी हो रही है। निजी और प्राइवेट, सरकारी बसों यात्री, कैब वाहनों के किराए से आम जनमानस आहत हैं। जहां नौतनवा से गोरखपुर तक की यात्रा महज 20 रुपये में सवारी गाड़ी से हो जाती थी। वहीं यही दूरी सरकारी बस से 120 रुपये और प्राइवेट गाड़ी से 200 में तय हो रही है। ट्रेन न चलने से भगीरथपुर समेत कई जगहों से छात्र आनंदनगर, गोरखपुर रोजाना पढ़ने और कोचिग क्लास करने जाते और आते थे। नौकरी पेशा लोगों को भी काफी सहूलियत होती थी। कम दाम पर रेल पास बनवाकर रोजाना अप डाउन करते थे। इसी तरह विभिन्न बाजारों में रोजगार करने वाले अपने सामान,धान, चावल लकड़ी बेचनेवाले, मुकदमा लड़ने, कोर्ट कचहरी, पर्यटकों को काफी दिक्कत हो रही है। डीजल पेट्रोल की बेतहाशा वृद्धि से महंगी हो रही निजी साधनों की सवारी गाड़ी का उपयोग आम पहुंच से दूर है। गाड़ियां बंद होने से रेल स्टेशनों पर खुली तमाम तरह की दुकानें लगभग बंद होने से परिवारों के समक्ष दिक्कत खड़ी हो गई है।

देवीशरण रामचंद्र पीजी कालेज छात्र संघ परसौना कोल्हुई के पूर्व अध्यक्ष आनंद कुमार मोदनवाल ने कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए गाड़ियों को बंद करना जरूरी था, लेकिन अब स्थिति बदल गई है। इस नाते सबके हित विशेष कर पिछड़े शैक्षिक सत्र को मजबूत करने के लिए आवागमन के इस सुलभ साधन को चलाना चाहिए। महात्मा बुद्ध इंटर कालेज अड्डाबाजार के प्रधानाचार्य दयानंद सिंह जो गोरखपुर से रोजाना नौकरी करने अड्डाबाजार आते जाते हैं। उनका कहना कि हमारे तरह हजारों नौकरी पेशा लोगों को गाड़ी बंद होने शारीरिक मानसिक आर्थिक स्थिति का सामना करना पड़ता है। ग्राम प्रधान पप्पू यादव का कहना है कि सवारी गाड़ी न चलने से रोजगार प्रभावित हैं। सामान के दाम बेतहाशा वृद्धि की ओर अग्रसर है। शिक्षा, रोजगार,स्वास्थ्य,खेती,सब प्रभावित हैं। इसे देखते हुए बंद गाड़ियों का संचालन फिर से तुरंत शुरु किया जाय। कोल्हुई कस्बे के मशहूर दवा व्यवसायी भाई उपेन्द्र सिंह ने कहा कि रेलवे इस रुट पर बंद सवारी और एक्सप्रेस गाड़ियों को तुरंत शुरू करें। समाज के हर वर्गो को जागरूक करें, क्योंकि रूट पर कुछ गाड़ियों को शुरू किया गया है।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट