गोरखपुर, जागरण संवाददाता। दोहरीकरण, विद्युतीकरण और क्विक वाटरिंग सिस्टम आदि बदलावों का असर जल्द ही ट्रेनों के संचालन पर भी दिखने लगेगा। एक अक्टूबर से नई समय सारिणी के साथ ट्रेनों की चाल भी बदल जाएगी। पनवेल-गोरखपुर एक्सप्रेस एक घंटे पहले ही गोरखपुर पहुंच जाएगी। सप्ताह में पांच दिन चलने वाली पनवेल एक्सप्रेस रात 12.20 की जगह 11.20 बजे ही गोरखपुर पहुंच जाएगी।

बीस मिनट पहले पहुंचेगी कोचीन एक्सप्रेस

कोचीन एक्सप्रेस भी 20 मिनट पहले गोरखपुर में दस्तक दे देगी। यह ट्रेन दोपहर बाद 3.40 की जगह 3.20 बजे गोरखपुर पहुंच जाएगी। पूर्वोत्तर रेलवे में चलने वाली 34 ट्रेनों के यात्री पांच से 60 मिनट पहले अपने गंतव्य पर पहुंच जाएंगी। इसके अलावा 40 एक्सप्रेस ट्रेनों के ठहराव समय में भी पांच मिनट की कटौती होगी। वैशाली और बिहार संपर्क क्रांति आदि एक्सप्रेस ट्रेनें गोरखपुर सहित दूसरे स्टेशनों पर 15 की जगह दस मिनट ही रुकेंगी। ट्रेनों के ठहराव में कटौती से अब यात्री पूर्व निर्धारित समय से पहले अपने गंतव्य पर पहुंच सकेंगे। साथ ही स्टेशनों के प्लेटफार्म भी समय से खाली हो जाएंगे। इसके चलते लंबी दूरी की ट्रेनों को बेवजह पास वाले स्टेशनों या आउटर पर खड़ा नहीं होना पड़ेगा।

यात्रियों को मिलेगी काफी राहत

एक अक्टूबर को नई व्यवस्था लागू हो जाने से यात्रियों को ट्रेनों की अपडेट समय सारिणी को लेकर परेशान नहीं होना पड़ेगा। कोविड काल के बाद प्रकाशित हो रही रेलवे की समय सारिणी (टाइम टेबल यानी ट्रेन ऐट ए ग्लांस) मैनुअल ही नहीं आनलाइन भी उपलब्ध रहेगी। रेलकर्मियों के अलावा आमजन भी अपनी प्रति सुरक्षित करा सकेंगे। पुस्तक के रूप में समय सारिणी की बिक्री रेलवे स्टेशन स्थित स्टालों पर होगी। आमजन भी 100 रुपये में ट्रेन ऐट ए ग्लांस खरीद सकेंगे। इसके अलावा इलेक्ट्रानिक ट्रेन ऐट ए ग्लांस इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (आइआरसीटीसी) की वेबसाइट पर भी लोड रहेगा। लोग निर्धारित शुल्क 30 रुपये वहन कर इलेक्ट्रानिक ट्रेन ऐट ए ग्लांस डाउनलोड कर सकेंगे।

Edited By: Pradeep Srivastava