गोरखपुर, जागरण संवाददाता : बारिश के कारण शहर की एक लाख से ज्यादा आबादी पानी से घिर गई है। कैंट थाना क्षेत्र के रानीडीहा खाले टोला और अन्य कालोनियों में नाव चलाने की मांग उठी है तो मेडिकल कालेज रोड के किनारे की कालोनियों में जलभराव से मुसीबत बढ़ गई है। सिंघड़िया क्षेत्र की कालोनियों में फिर से पानी भर गया है। देवरिया रोड पर गड्ढे भरने के लिए डाली गई गिट्टी मुसीबत का सबब बन गई है। गिट्टी में फिसलकर कई दोपहिया वाहन चालक गिरकर चुटहिल हुए हैं। नरसिंहपुर और अन्य कालोनियों से राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने 34 नागरिकों को बाहर निकाला है। यहां कई घरों में पानी घुस गया है।

सिंघड़िया के स्वर्ण सिटी कालोनी में रेलवे पुलिया के नीचे से आ रहा पानी

सिंघडिय़ा इलाके के स्वर्ण सिटी कालोनी में रेलवे की पुलिया के नीचे से आ रहे पानी को तेजी से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के नाले तक पहुंचाने के लिए नागरिकों ने एक बाउंड्री को तोड़ दिया। हालांकि बाउंड्री टूटने के कारण पानी प्रज्ञापुरम के रास्ते वसुंधरानगर में भी आ रहा है। गोरक्षनगर में सांसद आवास की ओर जाने वाली सड़क पर एक से डेढ़ फीट की ऊंचाई में तेज गति से पानी बहता रहा। इस कारण नागरिकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

पार्षद प्रतिनिधि ने नगर आयुक्त से नाव की व्यवस्था कराने का किया अनुरोध

वार्ड नंबर तीन के पार्षद के प्रतिनिधि हीरालाल यादव ने नगर आयुक्त अविनाश सिंह से मुलाकात कर कैंट थाना क्षेत्र के खाले टोला, कृष्णानगर, विद्यानगर, प्रेम नगर आदि कालोनियों में नाव की व्यवस्था कराने का अनुरोध किया। बताया कि 11 सौ से ज्यादा परिवार घरों में कैद हैं। नगर आयुक्त ने प्रशासन के अफसरों से बात की। पार्षद के प्रतिनिधि ने बताया कि देर शाम तक नाव की व्यवस्था नहीं हो सकी थी। बशारतपुर के पुराने पेट्रोल पंप के पास स्थित अशोक नगर कालोनी में भी जलभराव हो गया है। दुर्गेश पांडेय ने बताया कि कालोनी का पानी नहीं निकल रहा है। इससे लोगों का घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। बशारतपुर के ओमनगर में फिर जलभराव से मुसीबत बढ़ा दी है। भेड़ियागढ़, राप्तीनगर, पादरी बाजार, बिछिया, स्पोर्ट्स कालेज के पास गणेशपुरम और अन्य कालोनियों में जलभराव हो गया है। शहर की प्रमुख मंडी साहबगंज, हिंदी बाजार, घंटाघर, खूनीपुर, रेती रोड, गीता प्रेस रोड आदि इलाकों में जलभराव से दिक्कत हुई।

इलाहीबाग का रेग्युलेटर खोला गया

राप्ती नदी का जलस्तर कम होने के बाद इलाहीबाग का रेग्युलेटर खोल दिया गया। इससे शहर का पानी तेजी से राप्ती नदी में जाने लगा। नगर आयुक्त के निर्देश पर रेग्युलेटर के सभी पंप दिन-रात लगातार चलाए जा रहे हैं। नगर आयुक्त ने रेग्युलेटर का निरीक्षण भी किया। डोमिनगढ़ रेग्युलेटर पर अतिरिक्त पंप लगाए गए हैं। इस दौरान उप नगर आयुक्त संजय शुक्ल, महाप्रबंधक जलकल एसपी श्रीवास्तव, लेखाधिकारी अमरेश बहादुर पाल, बृजेश तिवारी आदि मौजूद रहे।

12 महिलाएं और चार बच्चे निकाले गए

मूसलधार बारिश से नरसिंहपुर, जफर कालोनी के कई घरों में पानी घुस गया। एनडीआरएफ के इंस्पेक्टर सभाजीत यादव के नेतृत्व में चले अभियान में 18 पुरुष, 12 महिलाओं और चार बच्चों को बाहर निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

Edited By: Rahul Srivastava