गोरखपुर, जेएनएन। शमसुद्दीन की खुशी का ठिकाना नहीं रहा जब उसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संवाद का अवसर मिला। स्वरोजगार संगम कार्यक्रम के तहत साइबर कैफे एवं जनसेवा केंद्र के लिए ऋण पाने वाले शमशुद्दीन ने मुख्यमंत्री को बताया कि पहले उनके पास छोटा सा साइबर कैफे था लेकिन परिवार के भरण पोषण के लिए यह पर्याप्त नहीं था।

उन्होंने उपायुक्त उद्योग रवि कुमार शर्मा से मुलाकात की, जिनके मार्गदर्शन व सहयोग से अब उन्हें 10 लाख रुपये का ऋण मिला है। साइबर कैफे के माध्यम से वह पांच और लोगों को रोजगार देंगे। मुख्यमंत्री ने पूछा कि यहां कौन से काम होंगे, जवाब में शमसुद्दीन ने बताया कि सभी प्रकार के आनलाइन काम किए जाएंगे। विभिन्न प्रमाणपत्रों के लिए आवेदन भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने नई पारी के लिए शमसुद्दीन को शुभकामना दी।

वर्चुअल लोन मेला में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आनलाइन हस्तांतरित की धनराशि

आनलाइन स्वरोजगार संगम कार्यक्रम के तहत आयोजित वर्चुअल ऋण मेले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत स्वरोजगार के लिए लाभार्थियों के खाते में धनराशि हस्तांतरित की। एनआइसी भवन में उपस्थित गोरखपुर के पांच लाभार्थियों को अलग-अलग कार्यों के लिए 74 लाख रुपये का ऋण मिला है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत साइबर कैफे एवं जनसेवा केंद्र के लिए 10 लाख रुपये का ऋण पाने वाले गोरखपुर के लाभार्थी शमसुद्दीन मोहम्मद से संवाद भी किया।

25 लाख रुपये का ऋण पाने वाले शकील अहमद को मिला प्रमाण पत्र

संवाद के बाद जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पाण्डियन एवं मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह ने मुख्यमंत्री युवा रोजगार योजना के अंतर्गत कंप्यूटर से जुड़े कार्यों के लिए 10 लाख रुपये का ऋण पाने वाले अभिषेक श्रीवास्तव एवं एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) योजना के तहत रेडीमेड गारमेंट की इकाई लगाने के लिए 25 लाख रुपये का ऋण पाने वाले शकील अहमद को प्रमाण पत्र प्रदान किया। विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत अधिकारियों ने दो लाभार्थियों को टूल किट प्रदान किया। इनमें से एक को राजमिस्त्री तथा दूसरे को हलवाई के कार्य के लिए टूलकिट मिला है।

इसी कार्यक्रम में ग्रामोद्योग विभाग की ओर से प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत लौह कला फर्नीचर के लिए 25 लाख रुपये का ऋण पाने वाले मुकेश यादव एवं आटा चक्की के लिए चार लाख रुपये का ऋण पाने वाले प्रह्लाद को ऋण स्वीकृति का पत्र प्रदान किया। जिलाधिकारी ने सभी लाभार्थियों को स्वरोजगार के लिए ऋण पाने पर बधाई दी। इस दौरान उपायुक्त उद्योग रवि कुमार शर्मा व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Edited By: Pradeep Srivastava