गोरखपुर, जेएनएन। युवती की शादी तय होने के बाद मनचले ने उसकी जिंदगी बर्बाद करने के मकसद से खतरनाक साजिश रच डाली। उसके नाम से फर्जी फेसबुक प्रोफाइल बनाकर आपत्तिजनक तस्वीरें शेयर कर दी। मामला सामने आने के बाद लड़के वालों ने शादी से मना कर दिया। एक नामजद समेत आठ के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है।

युवती के नाम से बनाई फेसबुक प्रोफाइल

मामला शहर के राजघाट इलाके का है। आरोपित ने युवती के नाम से फर्जी फेसबुक प्रोफाइल बनाकर उसकी तस्वीरें शेयर कर दी। इस तस्वीर पर लोग अश्लील कमेंट करने लगे तो बात घर-परिवार के साथ ही लड़के पक्ष के लोगों तक पहुंच गई। कुछ समय पहले ही युवती की शादी तय हुई थी। लड़के पक्ष के लोगों ने अब शादी करने से इन्कार कर दिया है। युवती के घरवालों ने खोजबीन शुरू की तो पता लगा कि चकरा अव्वल के रहने वाले करन निषाद ने अपने साथियों के साथ इस कारनामे को अंजाम दिया है। युवती के घरवाले उलाहना लेकर करन के घर गए। आरोप है कि जान से मारने की धमकी देकर उन्होंने भगा दिया गया। इसके बाद पीडि़त ने राजघाट थाने में करन और उसके सात अज्ञात सहयोगियों के खिलाफ केस दर्ज कराया। प्रभारी निरीक्षक राजघाट राजेश पांडेय ने बताया कि आरोपित की तलाश चल रही है। उसे पकडऩे के लिए साइबर सेल की भी मदद ली जा रही है।

ऑडियो वायरल का मामला वाराणसी पहुंचा

उधर, बिजली निगम में देवरिया के एक बड़े अफसर के वायरल ऑडियो का मामला वाराणसी पहुंच गया है। पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड वाराणसी के एमडी के. बालाजी ने ऑडियो की जांच के आदेश दिए हैं। देवरिया के अफसर का सोमवार को दो ऑडियो वायरल हुआ। एक में वह किसी ठीकेदार को वाहन लखनऊ न भेजने के लिए हड़का रहे हैं। कह रहे हैं कि 'गाड़ी तू नहीं तो तेरा बाप देगा'। ठीकेदार कह रहा है कि 27 लीटर तेल डलवाया था। अफसर गोरखपुर से आने-जाने में खर्च कर दिए। गाड़ी भेजूंगा तो तेल और टोल का खर्च कौन देगा। ठीकेदार ने भी जवाब में कहा कि वह अब गाड़ी नहीं चलवाएगा, चाहे जो हो जाए। तीन मिनट के इस आडियो में साहब एक सुर में ठीकेदार की लानत-मलानत जारी रखे हैं।

सामान वापस कर दो, नहीं तो मुकदमा लिखवा दूंगा

दूसरे आडियो में अफसर अपने ड्राइवर से बात कर रहे हैं। कह रहे हैं कि जो जैकेट, कंबल और स्वेटर दिया हूं उसे दो दिन में वापस कर दो नहीं तो चोरी का मुकदमा लिखवा दूंगा। बोले कि, यदि नहीं लौटाए तो मुझे वापस लेने का तरीका भी आता है। ड्राइवर को उन्होंने अपशब्द भी कहे। कहा कि गाड़ी की कमी नहीं है। किसी भी एक्सईएन से कह दूंगा तो गाड़ी लेकर आ जाएगा।

बिजली निगम के एक अफसर के दो ऑडियो मिले हैं। उन्हें देवरिया का बताया जा रहा है। मुख्यालय में तैनात चीफ इंजीनियर सिविल संजय जैन को मामले की जांच सौंपी गई है। - के. बालाजी, एमडी पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड, वाराणसी

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस