गोरखपुर/बस्ती, जेएनएन। लोकसभा चुनाव में पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने की शिकायत पर भाजपा अनुशासन समिति ने जिले के दो विधायकों समेत आठ को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

16 जून को लखनऊ में प्रदेश के जिलाध्यक्षों और क्षेत्रीय अध्यक्षों की बैठक में लोस चुनाव में संदिग्ध भूमिका वाले नेताओं और कार्यकर्ताओं के बारे में रिपोर्ट मांगी गई थी। बस्ती जनपद में कप्तानगंज के विधायक सीए सीपी शुक्ल और सदर विधायक दयाराम चौधरी पर लोस चुनाव में पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है। अनुशासन समिति के अध्यक्ष पूर्व सांसद सत्यदेव ङ्क्षसह ने जागरण से कहा कि पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप सही पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

कारण बताओ नोटिस का हमने दिया जवाब

विधायक सीए सीपी शुक्ल ने कहा आरोप लगाने वाले अपने गिरेबां में झांके। वह संगठन की विचारधारा के विपरीत सोच भी नहीं सकते। कप्तानगंज में हमको चुनाव में जितने मत मिले थे उससे 11819 अधिक मत लोस चुनाव में मिले हैं। सबसे कम मत महादेवा और सदर विधान सभा क्षेत्र में मिले हैं। पार्टी को इन दोनों क्षेत्रों के बारे में समीक्षा करनी चाहिए। विधायक दयाराम चौधरी ने बताया कि उनको नोटिस नहीं मिला है। उनकी छवि खराब करने के लिए दुष्प्रचार किया जा रहा है।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप