गोरखपुर, जेएनएन। लॉकडाउन में मस्टर रोल पर सफाईकर्मियों की हाजिरी भरने में खेल करने वाले 24 वार्डों के सुपरवाइजरों पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है। हाजिरी घोटाला करने वाले सफाईकर्मियों को नोटिस जारी किया गया है। जवाब आने के बाद इन सभी पर कार्रवाई की जाएगी। अभी 22 वार्डों में सफाईर्किमयों की हाजिरी की जांच चल रही है।

कोरोना के चलते बायोमेट्रिक मशीन से हाजिरी की व्यवस्था थी स्थगित

नगर निगम प्रशासन 70 वार्डों में से 46 में बायोमेट्रिक हाजिरी की व्यवस्था कर चुका है। कोरोना की आहट के साथ ही बायोमेट्रिक मशीन से हाजिरी की व्यवस्था को स्थगित कर दिया गया था। सुपरवाइजरों को निर्देश दिए गए थे कि वह सफाईकर्मियों की हाजिरी मस्टररोल पर भरें।

मस्‍टररोल भरने में हुआ खेल

इसी में सुपरवाइजरों ने खेल शुरू कर दिया। 22 मार्च तक बायोमेट्रिक मशीन से हाजिरी के बाद मस्टररोल की व्यवस्था लागू की गई थी लेकिन सुपरवाइजरों ने जब मानदेय के लिए हाजिरी का रिकॉर्ड जमा किया तो एक मार्च से सभी की मस्टररोल पर हाजिरी बना दी। लेखा विभाग ने उपस्थिति का मिलान शुरू किया तो पता चला कि बायोमेट्रिक मशीन में जिस दिन सफाईकर्मी उपस्थित नहीं है, मस्टररोल में उस दिन की हाजिरी बनी हुई है। इसकी जानकारी के बाद नगर आयुक्त अंजनी कुमार सिंह ने सभी वार्डों में हाजिरी की जांच का आदेश दिया।

मशीन लगी तो कम हो गई उपस्थिति

वार्डों में सफाईर्किमयों की उपस्थिति में खेल को देखते हुए नगर निगम प्रशासन ने अंगूठे और चेहरे से हाजिरी लगाने की व्यवस्था की है। वार्डों के सुपरवाइजर को मशीन दी गई है। जिन वार्डों में मशीन की व्यवस्था हो गई है वहां सफाईकर्मियों की उपस्थिति पहले से कम हुई है। व्यवस्था यह बनी थी कि जो सफाईकर्मी जाते वक्त हाजिरी नहीं दर्ज करता था, उसके आधे दिन का मानदेय काट लिया जाता था।

फैक्ट फाइल

गोरखपुर नगर निगम में कुल 70 वार्ड हैं। सफाईकर्मियों के लिए बायोमेट्रिक उपस्थिति वाले वार्डों की संख्‍या 46 है। इससे 24 वार्ड ऐसे हैं जहां बायोमेट्रिक मशीन नहीं है। यहां के कर्मचारी अब तक बायोमेट्रिक मशीन से उपस्थिति दर्ज करने से बचे हुए हैं। हाजिरी घोटाला उजागर होने के बाद अब तक 24 वार्डों की उपस्थिति की जांच पूरी हो चुकी है। 22 वार्डों में जांच होना बाकी है। इस संबंध में नगर आयुक्‍त अंजनी कुमार सिंह का कहना है कि 24 वार्डों की जांच पूरी हो चुकी है। इनके सुपरवाइजरों को नोटिस दिया गया है। मामला गंभीर है। जवाब आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस