गोरखपुर, जेएनएन। ट्रेन ही नहीं रेलवे स्टेशनों पर भी महिला यात्रियों को अतिरिक्त सुरक्षा मिलेगी। अब किसी भी विषम परिस्थिति में घबराने और परेशान होने की जरूरत नहीं है। महिलाओं की सुविधा के लिए रेलवे सुरक्षा बल ने प्लेटफार्मों पर पैनिक बटन लगाने की योजना तैयार की है। बटन दबाते ही सुरक्षा बल के जवान मौके पर पहुंच जाएंगे। तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित होगी।

32 स्टेशनों पर लगाए जाएंगे सीसी कैमरे

फिलहाल, पैनिक बटन लगाने से पहले रेलवे स्टेशनों पर सीसी कैमरे लगाए जाएंगे। रेल मंत्रालय के दिशा-निर्देश पर निर्भया फंड से प्रथम चरण में पूर्वोत्तर रेलवे के 32 प्रमुख स्टेशनों पर सीसी कैमरे लगाए जाने हैं। कैमरों से महिलाओं की 24 घंटे निगरानी होगी। अलग से कंट्रोल रूम बनेगा, जहां से हर पल मानीटरिंग होती रहेगी।

यहां लगेंगे कैमरे

फिलहाल, उन स्टेशनों पर ही कैमरे लगाए जाएंगे, जहां आरपीएफ पोस्ट स्थापित है। लखनऊ मंडल स्थित खलीलाबाद, बस्ती, गोंडा, सीतापुर, मनकापुर, लखीमपुर, ऐशबाग और बादशाहनगर सहित कुल आठ स्टेशनों पर सीसी कैमरे लगाए जाने हैं। इसके अलावा वाराणसी में 13 और इज्जतनगर में 11 स्टेशनों पर कैमरे लगाए जाएंगे। रेलवे बोर्ड ने कैमरे लगाने की जिम्मेदारी सहयोगी संस्था रेल टेल को दी है। दरअसल, स्टेशनों पर डरी-सहमी महिलाएं थानों तक नहीं पहुंच पाती। उनकी आवाज अंदर ही घुटकर रह जाती है।

गोरखपुर, लखनऊ और छपरा में एकीकृत सुरक्षा प्रणाली लागू

पूर्वोत्तर रेलवे के ए-वन कटेगरी के गोरखपुर, लखनऊ और छपरा जंक्शन पर यात्रियों को पुख्ता सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से एकीकृत सुरक्षा प्रणाली लागू की गई है। गोरखपुर में लगभग 70 सीसी कैमरे लगा दिए गए हैं। आनमैन वेहिकल स्कैनर सिक्युरिटी सिस्टम, लगेज स्कैनर और मेटल डिटेक्टर से सुरक्षा तंत्र को और चाकचौबंद किया जा रहा है। इसके अलावा गाजीपुर में वीडियो सर्विलांस सिक्युरिटी सिस्टम लागू है।

दिसंबर में ही पूरा जाएगा कार्य

इस संबंध में आरपीएफ के कमांडेंट अमित कुमार मिश्रा का कहना है कि निर्भया फंड से सीसी कैमरे लगाने का कार्य दिसंबर में पूरा हो जाएगा। महिला यात्रियों को अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान की जाएगी। महिलाओं की सुरक्षा को लेकर आरपीएफ सदैव सजग और सतर्क रहता है।

महिला यात्री इस नंबर पर कर सकती हैं फोन

इस संबंध में पूर्वोत्‍तर रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह का कहना है कि महिला यात्री विषम परिस्थिति में 139 के अलावा आरपीएफ हेल्पलाइन नंबर 182 पर भी फोन कर सकती हैं। स्टेशनों पर कैमरों से सर्कुलेटिंग एरिया ही नहीं, कोचों की भी निगरानी की जा रही है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस