गोरखपुर, जेएनएन। एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) में शामिल रेडीमेड गारमेंट को बढ़ावा देने के लिए विकास भवन सभागार में बैठक हुई। मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह की अध्यक्षता में संपन्न बैठक में उत्पाद के लिए कार्ययोजना तैयार करने पर सुझाव लिए गए। उद्यमियों ने रेडीमेड गारमेंट की ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग के लिए रणनीति बनाने व स्टार्टअप के इच्‍छुक लोगों को जागरूक करने के लिए तकनीकी समिनार आयोजित करने पर जोर दिया। मुख्य विकास अधिकारी ने सभी के सुझावों पर विचार करने का आश्वासन दिया। 16 दिसंबर को दोपहर बाद तीन बजे से इंडस्ट्रियल एस्टेट स्थित उद्योग भवन में एक और बैठक आयोजित होगी।

प्रचार प्रसार के लिए सेमिनार का आयोजन जरूरी

चैंबर आफ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष विष्णु प्रसाद अजितसरिया ने कहा कि रेडीमेड गारमेंट के निर्माण, वैल्यू एडिशन, ब्रांडिंग एवं तकनीकी विकास पर फोकस करना होगा। इसके लिए एक सेमिनार का आयोजन भी किया जाना चाहिए, ताकि अधिक से अधिक लोगों तक इसका प्रचार हो सके। चैंबर के पूर्व अध्यक्ष एसके अग्रवाल ने कहा कि सरकारी योजनाओं का अधिक से प्रचार करने की जरूरत है। जिला उद्योग केंद्र के स्तर पर प्रोजेक्ट रिपोर्ट पंजीकरण एवं निर्यात संबंधी प्रक्रिया की जानकारी के लिए हेल्प डेस्क बनाया जाना चाहिए। गोरखपुर में स्कूल ड्रेस का निर्माण करने वाले लोगों को भी प्रोत्साहित करना चाहिए। लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष दीपक कारीवाल ने कहा कि जिले में रेडीमेड गारमेंट का हब बनाने के लिए एक विस्तृत कार्ययोजना तैयार किए जाने की जरूरत है। इसके लिए टाइमलाइन भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एनआइसी के सहयोग से रेडीमेड गारमेंट की ब्रांङ्क्षडग एवं मार्केङ्क्षटग के लिए वेबसाइट बनवाने की जरूरत है। व्यापार प्रकोष्ठ के संयोजक डा.अजय कुमार ने कहा कि रेडीमेड गारमेंट के विकास के लिए क्लस्टर बनाए जाने की जरूरत है। मुख्य विकास अधिकारी ने उपायुक्त उद्योग को निर्देश दिया कि संबंधित विभागों के साथ समन्वय कर सुझावों पर अमल करें। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021