गोरखपुर, जेएनएन। ऊंचाई पर पहुंचने के बाद रिफाइंड तेल एवं सरसों के तेल में भी गिरावट आई है। ब्रांडेड रिफाइंड 142 तो सरसों का तेल 145 रुपये लीटर पहुंच गया था। इसके अलावा सब्जियों की कीमत भी कम हुई है। महेवा मंडी में सब्जियों की बंपर आवक की वजह से सब्जियों के दामों भारी कमी आई है। एक माह पहले जो सब्जियां 40 से 50 रुपये किलो बिक रही थी, उसके दाम आधे हो चुके हैं। थोक में तो सब्जियों के दाम तो और भी कम है। 

शादी-विवाह का दौर थमने और स्थानीय स्तर पर भी सब्जियों की भरपूर पैदावार होने की वजह से सब्जियों के दाम में नरमी बरकरार है। बैंगन, गोभी, आलू और लौकी 15 से 20 रुपये किलो के बीच बिक रही है, जबकि थोक मंडी में इन सब्जियों की कीमत आधी है।

व्यापारी और किसान मायूस

रविवार को सब्जियों के दाम में भारी गिरावट देखने को मिली है। सब्जियों की बढ़ी आवक और भाव गिरने से गृहणियों के चेहरे पर खुशी है तो वहीं व्यापारी और किसान मायूस नजर आ रहे हैं। मियां बाजार निवासी संजना गुप्ता ने बताया कि सब्जियों के साथ-साथ तेल व दाल के दाम बढऩे से रसोई का बजट गड़बड़ा गया था, लेकिन सब सस्ता हो गया है। रिफाइंड एवं सरसों के तेल के भाव भी 10 से 15 रुपये तक कम हुए हैं। सब्जी के थोक विक्रेता हाजी रमजान मेकरानी ने बताया कि सब्जी इतनी सस्ती हो गई है कि किसान और व्यापारी को नुकसान हो रहा है। बिक्री कम होने से गाड़ी का भाड़ा निकलना भी मुश्किल हो गया है।

इन वजहों से कम हुए दाम

सब्जी के थोक विक्रेताओं के मुताबिक अचानक मंडी में सब्जियों का आवक बढ़ी है। इस वजह से दाम में भारी गिरावट आई है। पड़ोस के प्रदेशों से माल भेजने वाले किसानों को नुकसान हो रहा है।

सब्जियों के थोक व फुटकर दामों पर नजर

सब्जी    थोक रेट   फुटकर रेट

गोभी - 08- 11       18-22

खीरा - 11- 13       18-20

साग- 06-08         15-20

मटर - 15-18        20-30

गाजर - 14-15      24-25

बैंगन - 10-11        20-28

टमाटर - 14-17      20-28

परवल - 60- 62     75-80

लौकी - 08- 10      15-20

आलू -  10-12       14-16

प्याज - 30-32       35-40

(सभी दाम रुपये किग्रा. में हैं)

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021