गोरखपुर, जागरण संवाददाता। नगर निगम की सीमा में शामिल हुए 32 नए गांवों में विकास कार्य जल्द शुरू हो सकेगा। पहले चरण में करीब 140 किलोमीटर सड़क व नाला का निर्माण कराया जाएगा और इसपर 106.80 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) की ओर से 250 कार्यों का आगणन (एस्टीमेट) तैयार किया गया है। आगणन शासन को भेज दिया गया है। जल्द ही इसे मंजूरी मिलने की उम्मीद है। उसके बाद टेंडर की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

नगर निगम की सीमा में शाम‍िल हुए हैं 32 नए गांव

नगर निगम की सीमा में 32 नए गांव शामिल हुए हैं। इन गांवों में विकास के लिए नगर निगम की ओर से प्रस्ताव तैयार किया गया था। 193 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान था। 500 से अधिक कार्य इसमें शामिल किए गए थे लेकिन 439 कार्यों को अंतिम रूप से सूची में जगह मिली। शासन के निर्देश के बाद विकास कार्य कराने का जिम्मा जीडीए को दिया गया।

जीडीए ने 250 कार्यों का आगणन तैयार कर शासन को भेजा, जल्द मंजूरी मिलने की उम्मीद

जीडीए की ओर से शुरू में 250 कार्य कराए जाएंगे। त्वरित आर्थिक विकास योजना के अंतर्गत प्रस्तावित इन कार्यों के लिए जीडीए द्वारा नए सिरे से आगणन तैयार किया गया। 27 अक्टूबर को ही यह आगणन शासन को भेज दिया गया। इसमें 1.42 लाख रुपये से लेकर एक करोड़ 87 लाख रुपये तक की परियोजनाएं शामिल हैं। शासन से बजट मंजूर होने के बाद जीडीए की टीम सभी कार्यों की टेंडर प्रक्रिया को पूरा करने में जुट जाएगी। प्राधिकरण के अधिशासी अभियंता मुकेश अग्रवाल ने बताया कि 250 कार्यों का आगणन तैयार कर लिया गया है। शासन से धनराशि जारी होने के साथ ही आगे की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। जीडीए के उपाध्यक्ष प्रेम रंजन सिंह ने बताया कि नगर निगम में शामिल 32 नए गांवों में विकास कार्यों की जिम्मेदारी जीडीए को दी गई है। त्वरित आर्थिक विकास योजना के अंतर्गत होने वाले ये विकास कार्य जल्द शुरू किए जाएंगे।

ये हैं नगर निगम की सीमा में शामिल 32 नए गांव

मिर्जापुर तप्पा खुटहन, करमहा उर्फ कम्हरिया, जंगल तिनकोनिया नंबर एक, जंगल बहादुर अली, सिक्टौर तप्पा हवेली, रानीडीहा, खोराबार उर्फ सूबा बाजार, जंगल सिकरी उर्फ खोराबार, भरवलिया बुजुर्ग, रामपुर तप्पा हवेली, सेंदुली बेंदुली, कठवतिया उर्फ कठउर, पिपरा तप्पा हवेली, झरवा, हरसेवकपुर नंबर दो, कजाकपुर, बड़गो, मनहट, गायघाट बुजुर्ग, पथरा, बाघरानी, गायघाट खुर्द, सेमरा देवी प्रसाद, चकरा सेयम, चकरा दोयम, लक्ष्मीपुर तप्पा कस्बा, गुलरिहा, मुड़िला उर्फ मुंडेरा, जंगल हकीम नंबर दो, संझाई तप्पा कस्बा, उमरपुर तप्पा खुटहन एवं नुरूद्दीन चक।

Edited By: Pradeep Srivastava