गोरखपुर, जेएनएन : नगर निगम सीमा में शामिल 32 गांवों में भी सैनिटाइजेशन शुरू करा दिया गया है। वर्ष 2019 में इन गांवों को नगर निगम में शामिल करने की घोषणा की गई थी। इसके बाद से यहां तैनात सफाईकर्मियों को पंचायतीराज विभाग ने वापस बुला लिया था, लेकिन नगर निगम की ओर से इन इलाकों में कोई सुविधा नहीं दी गई थी। अब सैनिटाइजेशन शुरू होने से इन इलाकों के नागरिकों में खुशी है।

नगर आयुक्‍त को निगम में शामिल गांवों में कोई सुविधा न मिलने की दी थी जानकारी

पार्षद प्रतिनिधि हीरालाल यादव ने नगर आयुक्त अविनाश सिंह से मुलाकात कर नगर निगम में शामिल नए इलाकों में कोई सुविधा न दिए जाने की जानकारी दी थी। बताया था कि इन इलाकों में भी कोरोना का संक्रमण फैल रहा है, लेकिन नगर निगम प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। नगर आयुक्त अविनाश सिंह ने इस पर हैरानी जताई। उन्होंने इन इलाकों में सोडियम हाइपोक्लोराइट से छिड़काव का आदेश दिया। इसके बाद नगर निगम की टीम ने छिड़काव शुरू करा दिया है। नगर आयुक्त ने बताया कि सैनिटाइजेशन अभियान में पंचायती राज विभाग को भी शामिल कर खोराबार ब्लाक, सूबा बाजार, मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय आदि इलाकों को सैनिटाइज कराया गया। नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. मुकेश रस्तोगी ने बताया कि रात में भी सैनिटाइजेशन अभियान लगातार चलाया जा रहा है। इस दौरान अपर नगर आयुक्त डीके सिन्हा, सफाई निरीक्षक महेश चंद्र, सुपरवाइजर ङ्क्षवध्याचल आदि मौजूद रहे।

इन इलाकों में हुआ सैनिटाइजेशन

जोन नंबर एक - महेवा, सिविल लाइन एक, दाउदपुर, छोटेकाजीपुर, नौसढ़, रूस्तमपुर, महादेव

जोन नंबर दो - राजघाट स्थित अंत्येष्टि स्‍थल

जोन नंबर तीन - दिलेजाकपुर, जाफरा बाजार, इस्माइलपुर, हांसूपुर, धर्मशाला, कल्याणपुर, पुर्दिलपुर, चरगांवा, मानबेला, मेडिकल कालेज, बशारतपुर, शक्तिनगर, शाहपुर, राप्तीनगर, शिवपुर सहबाजगंज, जंगल तुलसीराम पूर्वी, जंगल तुलसीराम पश्चिमी।

जोन नंबर चार - नेताजी सुभाष चंद बोस नगर कालोनी, पुराना गोरखपुर, रसूलपुर, माधोपुर, सूरजकुंड, हुमायूंपुर, उत्तरी जनप्रिय बिहार, अंधियारीबाग उत्तरी, गोरखनाथ मंदिर।