गोरखपुर, जेएनएन। सांसद रवि किशन ने कहा है कि विलुप्त हो रहे सारस पक्षी सारस को संरक्षित और सुरक्षित रखने की हम सभी की जिम्मेदारी है। गोरखनाथ इलाके में नयागांव के पास रोहिन नदी में बड़ी संख्या सारस पक्षी प्रवास करते हैं। उनके प्रवास स्थल को संरक्षित रखने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे। साथ ही प्रवास स्थल पर हर समय पानी का प्रवाह बनाए रखने की व्यवस्था की जाएगी। ताकि यहां हर समय सारस पक्षी रह सकें।

नयागांव के पास रोहिन नदी में बड़ी संख्या में रहते हैं सारस

गोरखनाथ इलाके में राजेंद्र नगर कालोनी से सटे नयागांव के पास इन दिनों बड़ी संख्या में सारस पक्षी प्रवास कर रहे हैं। उन्हें देखने के लिए हर समय आसपास के लोगों की भीड़ लगी रहती है। सांसद ने बताया कि वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफ धीरज सिंह ने सारस के प्रवास स्थल का संरक्षण करने को लेकर उनसे मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने इस स्थान को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने की अभूतपूर्व संभावना बताई थी। सांसद ने कहा कि सारस के प्रवास स्थल का संरक्षण की योजना अ'छी है। इससे गोरखपुर के विकास में एक और कड़ी जुड़ जाएगी।

जल प्रवाह बनाए रखने का भरोसा

सांसद ने प्रदेश सरकार के साथ ही स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों से बात कर उस स्थान पर पानी का प्रवाह हर समय बनाए रखने का प्रबंध कराने तथा सारस के संरक्षण की पूरी कार्य योजना तैयार कराकर उस पर काम करने का भरोसा दिया है। सांसद ने कहा कि सारस पक्षी पर विलुप्त होने का खतरा है। इसलिए उनका संरक्षण किया जाना जरूरी है। इसके लिए उन्होंने निजी तौर पर प्रयास करने के साथ ही शासन से भी दिशा में पहल कराने का प्रयास करने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि सारस प्रवास स्थल के आसपास हुए अतिक्रमण को अभियान चलाकर हटवाया जाएगा। ताकि प्रवास में किसी तरह का खलल न पड़े।