गोरखपुर, जेएनएन। कानपुर नगर के शिवराजपुर में पुलिस व बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में महराजगंज जिले का निवासी सिपाही शिवमूरत निषाद भी घायल हुए हैं। शुक्रवार की सुबह जब यह खबर परिजनों को मिली तो वह सन्‍न रह गए। सूचना मिलने ही घायल सिपाही के पिता व भाई कानपुर के लिए रवाना हो गए हैं।

पनियरा थानाक्षेत्र के बरवास गांव के निवासी हैं घायल सिपाही शिवमूरत निषाद

पनियरा थानाक्षेत्र के अड़बड़हवा गांव के टोला बरवास निवासी शिवमूरत निषाद वर्ष 2018 बैच का कांस्टेबल है। उसकी तैनाती कानपुर के चौबेपुर थाने में है। गुरुवार की रात अधिकारियों के साथ वह कानपुर नगर के शिवराजपुर में बदमाशों को पकड़ने गए थे। मुठभेड़ के दौरान बदमाशों की ओर से की गई फायरिंग में कांस्टेबल शिवमूरत निषाद घायल हो गए।

मुठभेड़ में घायल बेटे की सूचना से मां बदहवास

शुक्रवार की सुबह पांच बजे सिपाही के घायल होने की सूचना उच्चाधिकारियों ने फोन पर परिजनों को  दी। सूचना मिलते ही घर में रोना शुरू हो गया। घायल सिपाही की माता मेवाती देवी बदहवास हो गईं हैं। पिता भजुराम निषाद, भाई राममिलन, रामरतन व रामजतन  जल्‍द से तैयार हुए और गांव के प्रधान को साथ लेकर कानपुर लिए रवाना हो गए।

दो जुलाई की हुई थी बातचीत

घायल सिपाही ने दो जुलाई की सुबह नौ बजे परिजनों के पास फोन किया था। सभी का हालचाल लेने के बाद खेत में बोआई के बारे में भी पूछा था। सिपाही शिवमूरत ने बताया था कि वह भी ठीक है। किसी तरह की कोई परेशानी नहीं है।

सूचना लेकर घर पर पहुंचे थानाध्‍यक्ष

कानपुर में हुई मुठभेड़ की सूचना मिलने पर एसओ पनियरा दिलीप कुमार शुक्‍ल भी फोर्स के साथ घायल सिपाही के घर पहुंचे और परिजनों को घटना की पूरी जानकारी दी। उन्‍होंने बताया कि घटना कैसे हुई और किस तरह से शिवमूरत निषाद घायल हो गए।

शुभचिंतकों का आना-जाना शुरू

कानपुर की घटना की सूचना मिलते ही गांव के साथ अन्‍य शुभचिंतकों का शिवमूरत के घर आना जाना लगा रहा। दिन भर सिपाही के घर शुभचिंतकों व रिश्तेदारों की भीड़ जुटी रही। सभी लोग परिवार के सदस्‍यों को दिलासा देते रहे। 

Posted By: Satish Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस