गोरखपुर, जेएनएन। संतकबीर नगर जिले के धनघटा थाना के ग्राम निहैला निवासी मंजू व शिवांग (मां-बेटे) की हत्या अवैध संबंध के विरोध पर हुई थी। मर्डर का केस दर्ज करने से सिकरीगंज पुलिस ने इन्कार कर दिया, जबकि बेलघाट पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने में एक माह लगा दिया।

धनघटा क्षेत्र के ग्राम निहैला निवासी मंजू का शव सिकरीगंज क्षेत्र में जबकि पुत्र शिवांग का शव बेलघाट क्षेत्र में नदी से बीते 18 अगस्त को बरामद हुआ था। मंजू के पिता व गोला क्षेत्र के ग्राम पतरा निवासी सुदर्शन ने बताया कि उन्होंने सिकरीगंज व बेलघाट थाने में तहरीर दी। दोनों थानों की पुलिस सीमा विवाद में उलझी रहीं। हार कर सीओ गोला से न्याय की गुहार लगाई। सीओ के निर्देश पर 19 सितंबर को बेलघाट पुलिस ने आधा दर्जन हत्यारोपितों के खिलाफ केस दर्ज किया।

सुदर्शन ने आरोप लगाया कि हमारी बेटी मंजू व नाती की हत्या दामाद जितेंद्र ने कराई। जितेंद्र के गैर औरत से अवैध संबंध के विरोध के कारण हत्या की गई। बेलघाट थानाध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने बताया कि सुदर्शन की तहरीर पर धनघटा क्षेत्र के ग्राम निहैला निवासी जितेंद्र, श्याम, राजेंद्र समेत पांच के खिलाफ बलवा, हत्या व साक्ष्य छिपाने की धारा में केस दर्ज किया। जांच में पता चला कि मां-बेटे की हत्या धनघटा क्षेत्र में की गई थी और शव सिकरीगंज व बेलघाट क्षेत्र में फेंक दिया गया था। इस कारण डबल मर्डर का केस बेलघाट से थाना धनघटा जनपद संतकबीरनगर को स्थानांतरित कर दिया गया।

मामूली विवाद में पीटकर हत्या

उधर, गोरखपुर के खजनी इलाके के गंगा पिपरा गांव में मामूली बात को लेकर हुए विवाद में प्रधान के ससुर की पीटकर हत्या कर दी गई है। मारपीट में प्रधान पति, देवर और सास भी घायल हैं। दूसरे पक्ष से भी एक महिला सहित तीन लोग घायल हैं। गांव में तनाव है। जातीय संघर्ष की आशंका को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस तैनात कर दी गई है।

प्रधान पति अमित निषाद ने कुछ लोगों को रात में दावत दी थी। नौ बजे के आसपास 'खाना-पीना' चल रहा था। इसी बीच गांव के ही अष्टभुजा सिंह, परिवार के एक बच्चे को साथ लेकर बाइक से जा रहे थे। प्रधान के घर के सामने दावत में शामिल कुछ लोगों ने उनका रास्ता रोक लिया। इसी बात पर विवाद शुरू हुआ। अष्ठभुजा सिंह के पक्ष से भी कई लोग मौके पर पहुंच गए। मारपीट में एक पक्ष से प्रधान के ससुर लालू प्रसाद (59), प्रधान पति अमित निषाद (35), देवर सुनील निषाद (20) तथा सास और दूसरे पक्ष से अष्ठभुजा के पिता इंद्रजीत सिंह व उनके परिवार के नालेंद्र सिंह तथा विंद्रावती देवी घायल हो गईं। अस्पताल ले जाते समय लाल प्रसाद ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। इंद्रजीत सिंह और प्रधान की सास की हालत नाजुक बताई जा रही है।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप