गोरखपुर, जेएनएन। विश्वविद्यालय अनुदाय आयोग (UGC) की गाइडलाइन और सरकार के रुख को देखते हुए मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (MMMUT) प्रशासन ने सभी पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष की परीक्षा कराने की तैयारी शुरू कर दी है। चूंकि यूजीसी ने परीक्षा के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों का विकल्प दिया है, इसलिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने इसे लेकर छात्रों का मूड जानने के लिए उनसे ऑनलाइन सुझाव मांगे थे।

परीक्षा को लेकर यूजीसी की गाइडलाइन मिलने के बाद कुलपति ने छात्रों से मांगा था सुझाव

कुलपति के मुताबिक 65 फीसद छात्रों ने ऑनलाइन परीक्षा पर भरोसा जताया है जबकि 35 फीसद छात्र चाहते हैं कि उनकी परीक्षाएं ऑफलाइन कराई जाएं। हालांकि कुलपति इसे लेकर अभी मंगलवार को छात्रों से ऑनलाइन संवाद भी करेंगे। संवाद के दौरान कोरोना संक्रमण के चलते ऑफलाइन परीक्षा में आने वाली दिक्कत के बारे में छात्रों को विस्तार से बताएंगे। यदि उसके बाद भी छात्र ऑफलाइन परीक्षा के पक्ष में अड़े रहे तो विश्वविद्यालय प्रशासन को परीक्षा का बारी-बारी से दोनों विकल्प अपनाना पड़ेगा। ऑनलाइन परीक्षा जल्द से जल्द आयोजित करा ली जाएगी और ऑफलाइन परीक्षा का आयोजन कोरोना संकट समाप्त होने के बाद कराया जाएगा।

हालांकि यूजीसी की गाइडलाइन है कि ऑनलाइन हो या ऑफलाइन, 30 सितंबर तक परीक्षाएं हर हाल में करा ली जाएं। 

हम सभी पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष की परीक्षा के लिए वही प्रक्रिया अपनाएंगे, जो छात्रों को स्वीकार्य हो। कोरोना संक्रमण के चलते ऑफलाइन परीक्षा फिलहाल संभव नहीं हो सकेगी। ऐसे में ऑफलाइन परीक्षा की चाहत रखने वाले छात्रों से एक बार फिर बात की जाएगी। अगर उसके बाद भी वह ऑनलाइन परीक्षा से सहमत नहीं होते हैं तो उनकी ऑफलाइन परीक्षा कोरोना की स्थिति सुधरने के बाद कराई जाएगी। ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन जल्द से जल्द करा लिया जाएगा। - प्रो. श्रीनिवास सिंह, कुलपति, एमएमएमयूटी।

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस