गोरखपुर, जेएनएन। देवरिया की एक महिला द्वारा आत्महत्या की धमकी दिए जाने की सूचना के बाद पुलिस काफी देर तक हलकान रही। महिला के पकड़े जाने पर मामला फर्जी निकला। इसके बाद पुलिस ने राहत की सांस ली।

देवरिया के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र की रहने वाली महिला ने एक माह पहले आत्महत्या की धमकी दी थी। इस बीच यह महिला रविवार को गोरखपुर में दिख गई। गोरखपुर की पुलिस ने महिला को पकड़ कर देवरिया पुलिस को सौंप दिया। 

महिला का आरोप है कि ग्राम प्रधान के घर वह चौका-बर्तन करती है। छह सितंबर को प्रधान के यहां कोई नहीं था। ग्राम प्रधान के पति ने अकेला पाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। शिकायत पर 13 सितंबर को पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया, लेकिन आरोपित को गिरफ्तार नहीं किया।

उधर, देवरिया के पुलिस अधीक्षक डॉ श्रीपति मिश्र ने बताया कि दुष्कर्म का आरोप प्रथम दृष्टया सही नहीं है। क्योंकि महिला जिस वक्त की घटना बता रही है, उस समय आरोपित का लोकेशन देवरिया शहर में था। इन सभी बिंदुओं को गंभीरता से देखा जा रहा है।

देवरिया जिले की रहने वाली महिला गोरखनाथ मंदिर परिसर में जाने का प्रयास कर रही थी इसलिए उसे रोका गया। देवरिया पुलिस उसे अपने साथ ले गई है। - जोगेंद्र कुमार, एसएसपी, गोरखपुर।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस